हल्द्वानी, जेएनएन : कमलुवागांजा स्थित ससुराल में जहर खाकर खुदकुशी करने वाली नवविवाहिता नेहा की मौत के मामले में मायके वालों की बेरुखी भी सामने आ रही है। प्रेम विवाह के बाद पिता ने नेहा से संपर्क खत्म कर दिया था। शुक्रवार को ताऊ के बेटे की शादी में भी नेहा को आमंत्रित नहीं किया गया। अपनों की बेरुखी से नेहा मानसिक रूप से काफी परेशान थी।

पुलिस के मुताबिक, कमलुवागांजा में रहने वाले ऊर्जा निगम कर्मी के बेटे नीरज ने अल्मोड़ा से पॉलीटेक्निक किया था। पढ़ाई के दौरान ही उसकी मुलाकात देवली, लोधिया, अल्मोड़ा निवासी दीवान राम की बेटी नेहा से हुई। जनवरी 2018 में दोनों ने प्रेम विवाह कर लिया। इसके बाद कुछ समय तक नेहा पति के मूल घर पनियाली, पिलखोली रानीखेत में रही। बाद में नीरज उसे कमलुवागांजा ले आया। इसके बाद कुछ समय तक नीरज ने सिडकुल की इलेक्ट्रॉनिक कंपनी में काम किया। पिछले साल दीपावली के दौरान जॉब छूट गई, तब से वह बेरोजगार चल रहा है और इन दिनों रुद्रपुर में रहकर कोचिंग कर रहा था। नेहा लगातार नीरज को अपने साथ ले जाने के लिए कहती थी, जिस पर वह जॉब लगने तक इंतजार करने के लिए कह रहा था।

वहीं पुलिस की जांच में ये तथ्य थी सामने आया कि शादी के बाद नेहा के ससुराल पक्ष ने मायके वालों के घर जाकर समझौते के प्रयास भी किए थे। दोनों पक्षों के बीच समझौता भी हो गया था, मगर नेहा के पिता के मन से बेटी के प्रेम विवाह करने की टीस नहीं निकली। उन्होंने बेटी से त्योहारों में भी संपर्क नहीं किया। शुक्रवार को नेहा के ताऊ के बेटे का विवाह था। इसमें भी नेहा को आमंत्रित नहीं किया गया था। ससुरालियों ने बताया कि शुक्रवार सुबह नेहा के बुआ की बेटी का फोन आया था। नेहा फोन पर रोते हुए नहीं बुलाने का दुखड़ा सुना रही थी। फोन कटते ही नेहा छत पर गई और जहर खा लिया। 

मायके वालों ने लगाया दहेज हत्या का आरोप 

नेहा की मौत की सूचना पर शनिवार दोपहर पिता व अन्य रिश्तेदार हल्द्वानी पहुंचे। उन्होंने नेहा की दहेज की खातिर हत्या करने का आरोप लगाते हुए पहले कोतवाली फिर पोस्टमार्टम हाउस में हंगामा काटा। मायके वालों का आरोप था कि नेहा ने हल्द्वानी कोर्ट में विवाह किया था। इसके बाद ससुराली नेहा को बिना दहेज शादी करने का ताना देकर प्रताडि़त करते थे। साथ ही मायके से दहेज मांगने का दबाव बनाते थे। दहेज नहीं लाने पर नीरज भी नेहा को साथ नहीं रखता था। मोर्चरी में शव देखने के बाद पिता दीवान राम का आरोप था कि नेहा के नाक से खून बहा था और हाथ में घाव के निशान भी हैं। उन्होंने दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया। मुखानी थानाध्यक्ष नंदन सिंह रावत ने बताया कि नेहा के मायके वालों से उनसे लिखित तहरीर लाने के लिए कहा गया है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस