रुद्रपुर, वीरेंद्र भंडारी : बरेली में अलकायदा एजेंट इनामुल हक की गिरफ्तारी के बाद उत्तर प्रदेश की एटीएस और खुफिया एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं। पूछताछ में ऊधमिसंह नगर छोड़ने के बाद उसका किसी भी तरह से कनेक्शन मिलने की पुष्टि हुई तो पुलिस और खुफिया एजेंसी की टीम पूछताछ के लिए लखनऊ रवाना हो सकती है। फिलहाल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी लखनऊ में एटीएस के संपर्क में रहकर पल-पल का अपडेट ले रहे हैं।

 

2014 में पंतनगर विवि स्थित धार्मिक स्थल पर तोड़फोड़ के आरोपित इनामुल हक को गुरुवार को अलकायदा आतंकी संगठन की गतिविधियों और संगठन में युवाओं को भर्ती के प्रयास में उत्तर प्रदेश के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने गिरफ्तार कर लिया था। इसका पता चलते ही ऊधमिसंह नगर पुलिस और खुफिया एजेंसियां हरकत में आ गई थी और पंतनगर में रहने वाले उसके परिजनों से पूछताछ की थी। साथ ही पुलिस अधिकारियों ने भी मामले की जानकारी के लिए एटीएस से संपर्क किया था।

 

फिलहाल इनामुल को एटीएस 10 दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक एटीएस की जांच में इनामुल का ऊधमिसंह नगर से कोई कनेक्शन सामने आया तो पुलिस और खुफिया एजेंसियों की एक टीम लखनऊ जा सकती है। इसके लिए पुलिस के अधिकारी लखनऊ पुलिस और एटीएस से संपर्क बनाए हुए हैं।

 

अशोक कुमार, डीजी, लॉ एंड आर्डर ने बताया कि लखनऊ पुलिस और एटीएस से संपर्क बना हुआ है। अब तक हुई जांच में ऊधम¨सह नगर से अलकायदा एजेंट इनामुल का कोई कनेक्शन नहीं मिला है। पूछताछ में किसी भी तरह की कनेक्शन मिलने की पुष्टि हुई तो पुलिस और खुफिया एजेंसी की टीम को पूछताछ के लिए लखनऊ भेजा जाएगा।

 

डीजी एलओ करेंगे यूपी पुलिस अधिकारियों से संपर्क

पंतनगर में धार्मिक उन्माद भड़काने के छह साल बाद बरेली में अलकायदा गतिविधियों में गिरफ्तार इनामुल हक से लखनऊ में एटीएस समेत अन्य खुफिया एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं। ऐसे में उत्तराखंड के डीजी एलओ अशोक कुमार भी उत्तर प्रदेश के पुलिस अधिकारियों और एटीएस अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं। डीजी एलओ अशोक कुमार ने बताया कि जल्द ही मामले में यूपी पुलिस अधिकारियों से वह वार्ता करेंगे।

 

पंत विवि में चर्चाओं में मामला

बरेली में अलकायदा गतिविधियों में गिरफ्तार इनामुल के पिता पंत विवि में नौकरी करते थे। 2007 में उनकी मौत के बाद इनामुल के बड़े भाई की नौकरी लग गई थी। 2014 में इनामुल पर मुकदमा दर्ज होने के बाद जब वह जेल से छूटा तो परिजनों ने उससे नाता तोड़ दिया था। इसके बाद वह बरेली चला गया। बीते दिनों अलकायदा गतिविधियों के चलते उसकी गिरफ्तारी के बाद पंत विवि में उसे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस