Move to Jagran APP

Haldwani News: हिंदू बनकर नेपाल से भगा लाया नाबालिग, मंदिर में रचाई शादी- पुलिस कर रही पूछताछ

मिशन मुक्ति फाउंडेशन ने नेपाली दूतावास व राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की मदद से नैनीताल के एसएसपी पीएन मीणा से संपर्क किया। सभी ने मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और गत छह मार्च को लड़की को भीमताल से रेस्क्यू कर लिया गया और अंसारी को भी पकड़ लिया गया। उसके विरुद्ध दुष्कर्म अपहरण पॉक्सो एक्ट व बाल विवाह प्रतिशोध अधिनियम में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

By Jagran News Edited By: Mohammed Ammar Fri, 08 Mar 2024 10:03 PM (IST)
Haldwani News: हिंदू बनकर नेपाल से भगा लाया नाबालिग, मंदिर में रचाई शादी- पुलिस कर रही पूछताछ

जागरण संवाददाता, हल्द्वानी। नेपाल के एक मुस्लिम युवक ने नाम बदलकर वहां की नाबालिग लड़की के साथ इंस्टाग्राम पर दोस्ती की। फिर उसे प्रेमजाल में फंसाकर भारत भगा ले आया। यहां घोड़ाखाल मंदिर में उससे शादी भी रचा ली। उसे पकड़ लिया गया है और पूछताछ की जा रही है।

नाबालिग के परिवार की शिकायत पर 47वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल रक्सौल (बिहार), मिशन मुक्ति फाउंडेशन दिल्ली, जिला बाल कल्याण समिति नैनीताल व उत्तराखंड पुलिस के सर्च अभियान के बाद भीमताल के ढुंगशिल से मुस्लिम युवक को पकड़ लिया। उससे पूछताछ की जा रही है।

इंस्टाग्राम पर की दोस्ती

मिशन मुक्ति फाउंडेशन, दिल्ली के निदेशक वीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि 24 वर्षीय मोहम्मद इसराफिल अंसारी उर्फ दारा अंसारी नेपाल के परसाबीर गंज का रहने वाला है। उसने वहीं की एक 16 वर्षीय किशोरी से इंस्टाग्राम पर दोस्ती की। उसने लड़की को अपना नाम मुन्ना कुमार महतो बताया। उसे प्रेमजाल में फंसाकर शादी करने के बहाने 11 दिसंबर को नेपाल से भगाकर उत्तराखंड ले आया। इधर, जब नाबालिग लापता हुई तो परिवारवालों ने तलाश शुरू की।

वाट्सअप कॉल के बाद शुरू हुई जांच

महीने भर बाद एक भारतीय नंबर से लड़की की मां के पास वाट्सअप कॉल कर कहा गया कि लड़की को भूल जाओ। इसके बाद लड़की की मां ने एसएसबी की मानव तस्करी रोधी इकाई क्षेत्रीय मुख्यालय बेतिया बिहार को सूचना दी। नेपाल के राजदूतावास की ओर से नैनीताल के एसएसपी को पत्र भेजा गया। इधर, एसएसबी को मोहम्मद इसराफिल की उत्तराखंड के भीमताल में छिपे होने की जानकारी मिली।

रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर किया गया रेस्क्यू

एसएसबी की सूचना पर मिशन मुक्ति फाउंडेशन ने नेपाली दूतावास व राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की मदद से नैनीताल के एसएसपी पीएन मीणा से संपर्क किया। सभी ने मिलकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और गत छह मार्च को लड़की को भीमताल से रेस्क्यू कर लिया गया और अंसारी को भी पकड़ लिया गया। उसके विरुद्ध दुष्कर्म, अपहरण, पॉक्सो एक्ट व बाल विवाह प्रतिशोध अधिनियम में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

घर में भूला फोन, तब नाबालिग को मुस्लिम होने का चला पता

जिला बाल कल्याण समिति ने किशोरी की काउंसलिंग की। उसने टीम को बताया कि वह नेपाल के शिवपुर की रहने वाली है। एक दिन इसराफिल अपना फोन घर में भूल कर बाहर चला गया। तभी उसके एक रिश्तेदार ने फोन कर कहा कि मोहम्मद इसराफिल अंसारी से बात कराओ। इससे पहले उसका नाम मुन्ना महतो पता था।