नैनीताल, जेएनएन : अपने विवादित बयानों लेकर चर्चा में रहने वाले भाजपा विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन ने फिर विवादित बयान दोहराया है। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर बांटो और राज करो की नीति अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि 90 फीसद बहुमत के बाद भी सरदार पटेल के बजाय पंडित जवाहर लाल नेहरू को प्रधानमंत्री बनाया गया। साथ ही कहा कि यदि जिन्ना को प्रधानमंत्री बना दिया होता तो पाकिस्तान का जन्म ही नहीं होता।

सोमवार को नैनीताल क्लब में मीडिया से बातचीत करते हुए चैंपियन ने बिना विधायक देशराज कर्णवाल का नाम लिए कहा कि वह ईंट का जवाब पत्थर से व गोली का जवाब तोप से देंगे। खुद को समझदार व पढ़ा-लिखा बताते हुए उन्होंने कहा कि वह अपने दिए गए बयानों पर कायम हैं। चैंपियन ने नैनीताल में पुलिस द्वारा किए गए चालान पर कहा कि कानून का सबको पालन करना चाहिए। उन्हें पता नहीं था कि ये मार्ग वनवे है। मंत्री-विधायकों को भी कानून का पालन कर मिसाल कायम करनी चाहिए, यही उन्होंने किया। 

नियम तोडऩे पर भाजपा विधायक चैंपियन के वाहनों का चालान
लंढ़ौरा के भाजपा विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन को शहर में यातायात नियम तोडऩा महंगा पड़ गया। पुलिस ने उलटी दिशा में वाहन ले जाने पर चैंपियन के वाहन समेत तीन वाहनों का चालान कर दिया। दरअसल, वर्तमान में विधायक देशराज कर्णवाल व विधायक चैंपियन के बीच विवाद चल रहा है। इससे सरकार व संगठन के समक्ष अजीबोगरीब स्थिति बनी हुई है। देशराज ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर चैंपियन समर्थकों के खिलाफ दर्ज मामले में दबाव बढ़ा दिया है, वहीं चैंपियन ने पिछले दिनों वीडियो के माध्यम से देशराज को चेतावनी दी। इसके बाद भाजपा ने इस विवाद के पटाक्षेप को कमेटी बना दी। सोमवार को हाई कोर्ट में एक याचिका दायर करने के लिए चैंपियन नैनीताल आए थे। शाम को पंत पार्क से मस्जिद तिराहा जाने के बजाय नियम तोड़ते हुए वह सीधे बीडी पांडे अस्पताल से मोहनको होते हुए नैनीताल क्लब लौटने लगे तो एएसपी रचिता जुयाल की नजर उन पर पड़ गई। उन्होंने तत्काल प्रभारी कोतवाल बीसी मासीवाल को मौके पर भेजा। एसएसआइ ने नियम तोडऩे पर चैंपियन की फॉच्र्यूनर यूके-08 क्यू, 0123, स्कार्पियो यूके-08, एई, 0123 तथा स्विफ्ट डिजायर यूपी-70 सीके, 0661 का सौ-सौ रुपये का नगद चालान कर दिया।

यह भी पढ़ें : हर 20 दिन में वन विभाग का कर्मचारी माफिया के हमले का हो रहा शिकार, काम करना मुश्किल

यह भी पढ़ें : आग से फसल जलकर राख होने पर नहीं मिलता है कृषि बीमा, जानिए क्‍या है कारण

 

Posted By: Skand Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप