हल्द्वानी, गणेश जोशी : दूरस्थ क्षेत्रों में होम्योपैथी के जरिये बेहतर इलाज मिल सके, इसके लिए आयुष मंत्रालय की नई पहल शुरू हो गई है। देहरादून में 10 बेड का अस्पताल बनेगा। तकनीक से लैस अस्पताल से राज्य के सभी 150 होम्योपैथिक सेंटर जोड़ दिए जाएंगे। उन क्षेत्रों में आने वाले मरीजों को मुख्य अस्पताल में बैठे डॉक्टरों का पैनल राय देगा।

साढ़े पांच करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान

आयुष मंत्रालय ने होम्योपैथी चिकित्सा सेवा को विस्तार देने के लिए साढ़े पांच करोड़ का प्रस्ताव तैयार किया है। इससे अस्पताल के निर्माण के साथ ही तकनीकी सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा। आचार संहिता के बाद पहले चरण में सवा करोड़ रुपये तक मिलने की संभावना है।

रिसर्च पर भी रहेगा फोकस 

होम्योपैथी को बढ़ावा देने के लिए रिसर्च पर भी फोकस रहेगा। इलाज के बाद मरीज की स्थिति की जांच होगी। देखा जाएगा कि इन दवाइयों से कितना बदलाव आया। रिसर्च पेपर तैयार किए जाएंगे। इसके लिए राज्य के 150 सेंटरों के अलावा देश व विदेश से भी रिसर्च पर फोकस किया जाएगा। 

बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं उपलब्‍ध कराने की योजना 

डॉ. राजेंद्र सिंह, निदेशक, होम्योपैथी चिकित्सा सेवा ने बताया कि होम्योपैथी को आगे बढ़ाने के लिए कई तरह की योजनाएं संचालित हैं। राज्य में 10 बेड का अस्पताल और तकनीकी सुविधाओं के विस्तार का प्रस्ताव है। इस पर आचार संहिता लगने के बाद ही काम होगा। इसका मकसद है कि सभी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।

यह भी पढ़ें : हाई कोर्ट ने लेपर्ड व टाइगर के अंग बरामद होने के मामले में सरकार से फिर मांगा जवाब

यह भी पढ़ें : रिटायर्ड अध्यापक के देयकों का भुगतान नहीं करने पर सरकार पर लगाया दस हजार का जुर्माना

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस