भीमताल, जेएनएन : 15वें वित्त में क्षेत्र पंचायतों के बजट में कटौती से क्षुब्ध बीडीसी मेंबरों ने ओखलकांडा ब्लॉक कार्यालय में बुधवार को तालाबंदी कर दी। तालाबंदी व धरना प्रदर्शन ब्लाक प्रमुख कमलेश कैड़ा की मौजूदगी में हुआ। इस मौके पर मांग पूरी न होने पर निकट भविष्य में उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी गई।

 

फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए हुई आयोजित सभा में वक्ताओं ने प्रदेश सरकारद्वारा 15वें वित्त के बजट में बीस प्रतिशत कटौती पर तीव्र आक्रोश जताया। उन्होंने कहा कि 15वें वित्त की संस्तुति के आधार पर भारत सरकार द्वारा क्षेत्र पंचायतों को 30 प्रतिशत बजट की संस्तुति की गई थी। परंतु प्रदेश सरकार द्वारा 20 प्रतिशत कटौती कर मात्र 10 प्रतिशत बजट की क्षेत्र संस्तुति की गई है।

 

कटौती से क्षेत्र पंचायतों में हिस्सेदारी न्यून होने के कारण विकास की गति अवरुद्ध होगी। बीडीसी मेंबरों ने 20 प्रतिशत कटौती को तत्काल वापस लेने और वर्तमान में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए जरूरी सामग्री व राशन इत्यादि की खरीद के लिए राज्य वित्त एवं 15वें वित्त से धनराशि व्यय करने की अनुमति देने की मांग की।

 

मांगों के संदर्भ में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी धारी के माध्यम से शासन को भेजा गया। तालाबंदी के दौरान ब्लाक प्रमुख कमलेश कैड़ा, कनिष्ठ उपप्रमुख संजय कुमार, बीडीसी मेंबर रवि गोस्वामी, रोहित कुमार, पंकज बोरा, बिशन परगाई, रोहित थुवाल, नंदन बिष्ट, गोधन मेवाड़ी समेत अन्य कई बीडीसी मेंबर उपस्थित थे। उन्होंने सरकार से मामले में तुंरत सार्थक पहल करने की अपील की। उनका कहना था कि यदि कार्रवाई नहीं हुई तो इसके परिणाम गंभीर होंगे।

ट्रैकिंग और पर्यटन के लिए हिमालय खुला, लेकिन कोरोना के कारण पसरा है सन्नाटा 

सरकार के फैसलों से असंतुष्ट ट्रांसपोर्ट कारोबारी व्यवसाय बदलने के लिए होने लगे मजबूर 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस