जागरण संवाददाता, हल्द्वानी : हल्द्वानी के युवा क्रिकेटर आर्यन जुयाल ने अपने पहले ही रणजी टूर्नामेंट में करियर का पहला शतक ठोक दिया है। यह कारनामा उन्होंने टूर्नामेंट की प्रबल दावेदार मानी जा रही कर्नाटक की टीम के खिलाफ लगाया है। मंगलवार से शुरू हुए रणजी के एक मुकाबले में आर्यन ने उत्तर प्रदेश की तरफ से खेलते हुए 11 चौकों से सजी शानदार शतकीय पारी खेली।

महज 18 साल के आर्यन जुयाल अपना पहली रणजी ट्रॉफी खेल रहे हैं। मंगलवार को कर्नाटक के हुबली मैदान में मेजबान के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने उतरी उत्तर प्रदेश की टीम से सलामी बल्लेबाज के तौर पर आर्यन ने 251 गेंदों में 109 रन बनाए। यह उनके करियर का दूसरा रणजी मैच है। पहले रणजी मुकाबले में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। पहली पारी में शून्य व दूसरी पारी में महज 13 रन बनाकर आउट हो गए थे। इससे उत्तर प्रदेश की रणजी टीम में उनके चयन पर सवाल खड़े होने लगे थे, मगर दूसरे मैच में अपने इस प्रदर्शन से उन्होंने तमाम आलोचनाओं का जवाब दे दिया है। पिता ने टीवी पर लाइव देखा मैच

आर्यन की खूबियों को करीब से जानने वाले उनके पिता डॉ. संजय जुयाल मंगलवार सुबह से ही टीवी के सामने बैठे रहे। उन्होंने पूरे दिन भर आर्यन की बल्लेबाजी का लुत्फ उठाया। पिता डॉ. जुयाल का कहना है कि कर्नाटक जैसी मजबूत टीम के खिलाफ करियर का पहला शतक जड़कर आर्यन ने अपने चयन को सही साबित कर दिखाया है। ये शतक उनके आत्मविश्वास को बढ़ाएगा। कोच आरएस नेगी ने भरोसा जताते हुए कहा कि आर्यन का प्रदर्शन टूर्नामेंट में आगे भी इसी तरह रहेगा। वह और भी बड़ी पारी खेलेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस