जासं, नैनीताल : रानीबाग से नैनीताल हनुमानगढ़ी तक प्रस्तावित 11 किमी से अधिक लंबाई के रोप-वे निर्माण में पांच सौ करोड़ से अधिक की लागत का अनुमान है। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के अनुसार इस रोप-वे के लोअर टर्मिनल रानीबाग, पहले स्टेशन डोलमार, मिड टर्म स्टेशन ज्योलीकोट व अपर टर्मिनल हनुमानगढ़ी नैनीताल में पर्यटकों की सुविधाओं के लिए होटल, रिजार्ट बनेंगे।

हाई कोर्ट में सरकार की ओर से दाखिल जवाब के अनुसार एचएमटी रानीबाग के समीप वन भूमि पर लोअर टर्मिनल प्वाइंट बनना है। यहां थ्री स्टार होटल, फास्ट फूड सेंटर, रेस्टोरेंट, पहले स्टेशन डोलमार, मिड टर्म स्टेशन ज्योलीकोट में पार्किग, शॉपिंग कांपलेक्स, ईको रिजार्ट, अपर टर्मिनल हनुमानगढ़ी में पार्किग व दुकानें बननी हैं। पीपीपी मोड में प्रस्तावित रोप-वे को बेहद महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट बताया जा रहा है।

-------------

हनुमानगढ़ी भूगर्भीय दृष्टि से अतिसंवेदनशील है। हनुमानगढ़ी में लगातार धंसाव हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने सरिताविहार फेस-6 दिल्ली मामले में फैसला देते हुए साफ कहा है कि पार्क की भूमि को नहीं बदला जा सकता। हनुमानगढ़ी पार्क है, लिहाजा इसको नहीं बदला जा सकता। 1841 से पहले भूस्खलन भी हुआ था।

-प्रो. अजय रावत, पर्यावरणविद व याचिकाकर्ता।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप