हरिद्वार, जेएनएन। रुड़की के इकबालपुर क्षेत्र के खाताखेड़ी गांव निवासी युवक की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। युवक बीती गुरुवार को इलाज के लिए एम्स ऋषिकेश गया था। युवक के कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिलते ही सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम खाताखेड़ी इकबालपुर पहुंची। 

संक्रमित युवक की पत्नी, बच्चों और भाई को क्वाडरा अस्पताल, रुड़की के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। अब इनके भी सैंपल लिए जाएंगे। वहीं मरीज के संपर्क में आए लोगों को भी ट्रेस किया जा रहा है। 

सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि झबरेड़ा थाना क्षेत्र के इकबालपुर खाताखेड़ी गांव निवासी 31 वर्षीय युवक को पैनक्रियाज में दिक्कत है। करीब दो महीने से युवक का एम्स ऋषिकेश में इलाज चल रहा था। यहां उसका आपरेशन भी किया जाना था। 

आपरेशन से पहले युवक का कोरोना टेस्ट कराया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। युवक सात मई को एम्स गया था, जहां उसके सैंपल लिए गए थे। मरीज की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। छह मई को युवक रुड़की के रामपुर चुंगी स्थित मैक्स और फिर बीएसएम तिराहे के पास स्थित विनय विशाल अस्पताल गया था। 

इसके बाद वह सात मई को ऋषिकेश एम्स पहुंचा। सीएमओ ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में जाकर उनके संपर्क में आए लोगों को चिह्नित कर रही है। युवक की पत्नी और दो बच्चों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

रेड से ऑरेंज जोन में आने की उम्मीदों को झटका 

हरिद्वार जिले में 18 अप्रैल के बाद कोरोना का कोई मामला नहीं मिलने पर जिले के रेड से ऑरेंज जोन में आने की उम्मीद थी। अब नया मामला सामने आने से उम्मीदों को झटका लगा है। नई गाइडलाइन के तहत अब 21 दिन तक कोई नया केस नहीं आने पर ही जिला रेड से ऑरेंज जोन में आएगा।

खाताखेड़ी गांव को किया सील

झबरेड़ा थाना क्षेत्र के खाताखेड़ी गांव में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने के बाद गांव में पुलिस और प्रशासनिक अमला पहुंच गया है। गांव के कई मार्गों को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा लोगों को गांव से बाहर ना जाने के लिए कहा गया है। गांव में जो गन्ना कोल्हू संचालित हो रहे हैं, उन्हें फिलहाल बंद करा दिया गया है। 

गांव के मुख्य मार्गों पर पुलिस का पहरा लग गया है। करीब छह हजार की आबादी के गांव को सील कर दिया गया है। इस मौके पर अपर उप जिलाधिकारी गोपाल सिंह चौहान और एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह भी पहुंच गए हैं। एसपी देहात स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि इस बावत गांव में सूचना प्रसारित करा दी गई है। जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति प्रशासन के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी।

22 अप्रैल को एम्स से आया था खाताखेड़ी

सीएमओ ने बताया कि युवक का छह से 22 फरवरी तक दो महीने दून के सिनर्जी अस्पताल में इलाज चला। इसके बाद युवक ने 22 फरवरी से 22 अप्रैल तक एम्स ऋषिकेश में इलाज कराया। 

22 अप्रैल को वह खाताखेड़ी आया। 22 अप्रैल से छह मई तक गांव में ही रहा। छह मई को रामपुर चुंगी रुड़की स्थित मैक्स अस्पताल और इसी दिन अल्ट्रासाउंड के लिए विनय विशाल अस्पताल पहुंचा। यहां रेडियोलाजिस्ट डॉ. अकित अग्रवाल ने उनका अल्ट्रासाउंड किया था। 

डॉ. अग्रवाल को सीबीआरआइ में क्वारंटाइन किया गया है। उनके परिजनों को होम क्वारंटाइन करने की कार्रवाई की जा रही है। इस दौरान वह किन-किन लोगों के संपर्क में आया इसकी जांच कराई जा रही है।

दो को आइसोलेशन वार्ड में किया भर्ती

रुड़की सिविल अस्पताल में शुक्रवार को कोरोना वायरस की आशंका के चलते दो व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। वहीं 36 व्यक्तियों की जांच की गई। इनमें आइआइटी के 11 कश्मीरी छात्र भी शामिल रहे। इन छात्रों की फिटनेस की जांच की गई।

शहर के सिविल अस्पताल में 36 लोगों की जांच की गई। इनमें से दो व्यक्तियों में जुकाम और खांसी की शिकायत पाई गई। इसके बाद इन दोनों व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। वहीं जिन 36 लोगों की जांच की गई, उनमें 11 आइआइटी के कश्मीरी छात्र भी शामिल रहे। इनकी फिटनेस की जांच की गई। 

वहीं 12 सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने बताया कि शुक्रवार को कुल 36 लोगों की जांच की गई। इनमें से आइआइटी के 11 कश्मीरी छात्र थे। प्रशासन की ओर से इन छात्रों को फिटनेस जांच के लिए भेजा गया था। उनके अनुसार इन छात्रों को उनके घर भेजा जा रहा है। दो व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: त्यूणी में पहले ही दिन दो हजार लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग

लंढौरा में 14 और कलियर में चार को किया होम क्वारंटाइन

लंढौरा में 14 लोगों को होम क्वारंटाइन किया है। साथ ही, पर्वतीय क्षेत्र के पांच लोगों को बरातघर में रखा गया है। अन्य प्रदेशों में काम कर रहे 19 लोग गुरुवार रात को बस से लौटे थे। इनमें छह लोग लंढौरा के और आठ लोग अकबरपुर के हैं। जिन्हें पुलिस ने उनके घर पहुंचाकर होम क्वारंटाइन कर दिया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनकी स्क्रीनिंग की और उन्हें घर पर रहने की हिदायत दी। सेक्टर मजिस्ट्रेट प्रदीप सैनी ने भी मौके पर जाकर जानकारी ली।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: दून की मंडी में फल-सब्जी विक्रेताओं की भी होगी सैंपलिंग

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस