राज्य ब्यूरो, देहरादून। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की वर्चुअल मौजूदगी में प्रदेश के लिए 5400 करोड़ रुपये लागत से 250 किमी राष्ट्रीय राजमार्गों का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इनमें 5000 करोड़ के राजमार्गों का लोकार्पण और 400 करोड़ के राजमार्गों का शिलान्यास शामिल है। उन्होंने कहा कि तमाम अड़चनों के बावजूद कुंभ से पहले कार्यों को पूरा किया गया है। इससे रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। साथ में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

शुक्रवार को प्रदेश में वर्चुअल तरीके से हुए इस लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की। इस मौके पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डा रमेश पोखरियाल निशंक मौजूद रहे। लोकार्पण व शिलान्यास के बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि उक्त राष्ट्रीय राजमार्गों के बनने से कुंभनगरी हरिद्वार के लिए यात्रा सुगम होगी।

उन्होंने कहा कि बाइपास निर्माण से रुड़की एवं छुटमुलपुर को जाम से राहत रहेगी। राजाजी टाइगर रिजर्व में वन्यजीवों के आवागमन को तीन एलीफेंट कारिडोर का निर्माण किया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि चारधाम परियोजना सामरिक दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है। परियोजना में  450 किमी के 7508 करोड़ रुपये के कार्य पूरे हो चुके हैं। दुर्घटना रोकने को क्रैश बैरियर बनाए गए हैं। अभी तक 13 लाख से ज्यादा पेड़ लगाए गए हैं। केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री की ओर से भेंट की गई ऐपण पर आधारित कृति की तारीफ की। उन्होंने कहा कि चार धाम परियोजना के लिए रोड साइड एमेनिटी में 2000 वर्गफीट के पेवेलियन राज्य सरकार को दिए जाएंगे। वहां राज्य की पारंपरिक हस्तकला व स्थानीय उत्पादों को बिक्री को रखा जा सकेगा। 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के साथ उत्तराखंड का तेजी से विकास हो रहा है। उत्तराखंड में सड़क कनेक्टिविटी में काफी विस्तार हुआ है। हरिद्वार सांसद और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि राज्य को मिली सड़कों की  सौगात के लिए वह केंद्रीय मंत्री गडकरी का आभार व्यक्त करते हैं। 

इन राष्ट्रीय राजमार्गों का हुआ लोकार्पण:

  • मुजफ्फरनगर-हरिद्वार मार्ग, लंबाई-78 किमी व लागत 1750 करोड़
  • रुड़की-छुटमुलपुर-गागलहेड़ी, छुटमुलपुर-गणेशपुर, लंबाई 54 किमी व लागत 2200 करोड़
  • हरिद्वार-देहरादून एनएच-58 व 72, लंबाई 37 किमी व लागत 1000 करोड़
  • मुजफ्फरनगर-हरिद्वार एलिवेटेड संरचना, मायापुरी एस्केप चैनल पर पुल, लंबाई एक किमी व लागत 50 करोड़

इन राष्ट्रीय राजमार्गों का हुआ शिलान्यास:

  • रुद्रप्रयाग जिले में एक किमी टनल का निर्माण व अलकनंदा नदी पर एनएच 107 व एनएच 7 को जोडऩे के लिए दीर्घ सेतु, लंबाई दो किमी व लागत 250 करोड़
  • अल्मोड़ा जिले में एनएच 309 बी के तहत पनुवानौला और दानिया से पनार के सुदृढ़ीकरण का कार्य लंबाई 45 किमी व व लागत 50 करोड़
  • पौड़ी जिले में एनएच 119 के तहत सतपुली से अगरोड़ा तक सुदृढ़ीकरण का कार्य, लंबाई 33 किमी व लागत 100 करोड़।

यह भी पढ़ें- दस साल बाद जनता को समर्पित होगा हरिद्वार-देहरादून राजमार्ग, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी करेंगे लोकार्पण

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021