हरिद्वार, जेएनएन। सिडकुल में वाटर टैंक बनाने वाली एक फैक्ट्री में ऑक्सीजन सिलेंडर फटने से तीन कर्मचारियों की मौत हो गई, जबकि दो कर्मचारी घायल हो गए। हादसा लोडर से आक्सीजन सिलेंडर उतारने के दौरान हुआ। धमाका इतना जबरदस्त था कि लोडर के ड्राइवर और हेल्पर के शरीर के चिथड़े उड़ गए। विस्फोट से फैक्ट्री की दीवारों में दरार आ गई और मलबा व कांच टूटकर बिखर गए। नाजुक हालत के चलते दोनोंं घायलों को हायर सेंटर रेफर किया गया है। एसएसपी सहित पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना कर जांच के निर्देश दिए हैं।

औद्योगिक क्षेत्र सिडकुल में सुएज ड्रिपलेक्स वाटर इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में वाटर टैंक बनाए जाते हैं। मंगलवार शाम करीब चार बजे बहादराबाद से ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई करने वाली एजेंसी के दो कर्मचारी लोडर में आक्सीजन सिलेंडर लेकर फैक्ट्री पहुंचे। सिलेंडर उतारने के दौरान एक सिलेंडर फटने से जोरदार धमाका हुआ और दोनों कर्मचारियों के चीथड़े उड़ गए। 

जोरदार धमाका होने से फैक्ट्री की दीवारें हिल गई और मलबा व गुबार बिखरने से कुछ दूरी पर काम कर रहे तीन कर्मचारी भी घायल हो गए। सूचना पर सिडकुल थानाध्यक्ष प्रशांत बहुगुणा फैक्ट्री पहुंचे और घायलों को नजदीक के अस्पताल भिजवाया। एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय व एएसपी सदर आयुष अग्रवाल ने भी मौका मुआयना कर घटना की जानकारी जुटाई। 

यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी के खरसाली में गैस सिलेंडर फटने से रसोईघर और कमरे का सामान जला

एसएसपी ने बताया कि मृत कर्मियों की शिनाख्त नावेद (32) पुत्र अब्दुल हाकिम और अबरार (20) पुत्र इस्तकार निवासी ग्राम इब्राहिमपुर थाना पथरी हरिद्वार और गौरव सिन्हा पुत्र पूरन सिंह निवासी रामनगर ज्वालापुरके रूप में हुई है। घायलों में फैक्ट्री कर्मचारी कमल पुत्र गजोधर प्रसाद निवासी ग्राम हाशिमपुरा जिला फतेहपुर (उत्तर प्रदेश) और शेखर पुत्र संत कुमार निवासी रावली महदूद सिडकुल हरिद्वार शामिल हैं। तीनों घायलों को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। एसएसपी ने बताया कि पूरे मामले की जांच के निर्देश दे दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: पाइप लाइन से अमोनिया गैस का रिसाव, 12 से ज्यादा की तबीयत बिगड़ी

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप