संवाद सूत्र, लंढौरा। ईंट की मिट्टीके लिए खोदे गए गड्ढे में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई है। दोनों बच्चे गड्ढे में भरे बरसाती पानी में नहाने के लिए आए थे। लेकिन, गड्ढा ज्यादा गहरा होने के कारण दोनों बच्चे उसमें डूब गए। साथ आए अन्य दोनों बच्चों ने यह जानकारी स्वजन को दी। दोनों बच्चों के शव बाहर निकाल लिए गए हैं। बच्चों की मौत के बाद घरों में कोहराम है।

मोहल्ला बाहर किला निवासी सरफराज (12 वर्ष) पुत्र शाहिद और सुहैल (11 वर्ष) पुत्र इस्तखार मंगलवार दोपहर ईंट भट्टे के पास खोदे गए गड्ढे में भरे बरसाती पानी में नहाने गए थे। दो अन्य बच्चे भी साथ में थे। सरफराज और सुहैल नहाने के लिए गड्ढे में कूदे। गड्ढा गहरा और दलदला था। दोनों बच्चे संभल नहीं पाए और उसमें डूब गए। उनके साथ आए अन्य दो बच्चों ने तुरंत घर पहुंचकर स्वजन को इसकी जानकारी दी। 

घटना की जानकारी मिलते ही स्वजन मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक दोनों बच्चे डूब चुके थे। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों बच्चों के शवों को बाहर निकाला। स्वजन बच्चों के शवों को घर ले गए। लंढौरा पुलिस चौकी प्रभारी नितेश शर्मा ने बताया कि स्वजन ने मामले में किसी भी तरह की पुलिस कार्रवाई से इनकार किया है।

--------------------- 

पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर पर दर्ज किया मुकदमा

मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के मुंडेट गांव निवासी रचित ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि गांव के ही कपिल उर्फ मुन्ना ने बीस जून की शामू को घर में घुसकर मारपीट एवं गाली-गलौज की। वहीं दूसरी ओर छोटे लाल ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि गांव के शुभम, सचिन, संजू ने घर में घुसकर उसके बेटे के साथ मारपीट की। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें- बरसात में कभी भी कहर बरपा सकती है रिस्पना और बिंदाल नदी, 30 बस्तियों पर खतरा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri