संवाद सहयोगी, हरिद्वार : सांस्कृतिक संस्था आध्यात्म चेतना संघ ने गौतम फार्म हाउस कनखल में विराट गीता जयंती समारोह का आयोजन किया। इसमें गीता के महत्व पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम में पतंजलि विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रोफेसर महावीर अग्रवाल को गीता रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। वहीं साहित्यकार मोना वर्मा, शिक्षाविद् डॉ. अवनीत घिल्डियाल, चित्रकार एके गुप्ता, समाजसेवी नेहा मलिक, प्रसिद्ध पर्यावरणविद् पक्षी वैज्ञानिक डॉ. दिनेश भट्ट को गीता गौरव सम्मान से नवाजा गया।

बतौर मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि श्रीमद् भागवत गीता कर्मयोग का संदेश देती है, जो सार्वभौमिक है। कहा कि श्रीमद् भागवत गीता धार्मिक संस्कृति को संरक्षित करने का संदेश देती है। इसको देश विदेश तक पहुंचाने का कार्य आध्यात्म चेतना संघ कर रहा है। जगद्गुरु स्वामी राजराजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि गीता केवल धार्मिक ग्रंथ ही नहीं, अपितु विज्ञान है, जो मानव को निष्काम कर्म करने का संदेश देती है। विश्व जागृति मिशन की उपाध्यक्ष अर्चिका दीदी ने कहा कि वेदों का सार अमृतस्वरूप गीता है, जो संपूर्ण विश्व को प्रेरणा देने का कार्य करती है। संस्थापक अध्यक्ष आचार्य करूणेश मिश्र ने संस्था का परिचय और इसकी गतिविधियों के विषय में प्रकाश डाला। संस्था के संरक्षक प्रोफेसर पीएस चौहान ने गीता रत्न और गीता गौरव सम्मान पाने वाले सभी विभूतियों को बधाई दी। संस्था के अध्यक्ष एचके वाधवा ने बताया कि संस्था की ओर से गीता ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें करीब ढाई हजार छात्रों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में डीपीएस के रेहांस प्रथम, स्प्रिंग फील्ड स्कूल की भावना कटारिया द्वितीय तथा डीपीएस की श्रुति चाहल तृतीय स्थान पर रहीं। इस दौरान विजेताओं को पुरस्कृत किया गया। इस मौके पर महापौर अनीता शर्मा, उद्यमी जेसी जैन, विधायक आदेश चौहान, महापौर अनीता शर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष राजीव शर्मा, पुरुषोत्तम शर्मा गांधीवादी, डॉ. प्रेमचंद शास्त्री, संतोष चौहान आदि मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस