रुड़की, [जेएनएन]: कश्मीर के कठुआ में मासूम की मौत के विरोध में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मार्च निकाला। बिना अनुमति मार्च निकाले जाने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने मार्च निकाल रहे लोगों को रोकने का प्रयास किया लेकिन मार्च निकालने वालों ने पुलिस को भरोसा दिलाया कि उनका यह मार्च शांतिपूर्ण है। उनकी ओर से कोई भी ऐसा कार्य नहीं किया जा जाएगा, जिससे शांति व्यवस्था प्रभावित हो। मार्च निकालने वाले लोगों ने मासूम के कातिलों को फांसी देने की मांग की।

रामपुर चुंगी पर मुस्लिम समुदाय के लोग एकत्रित हुए। इसके बाद यह लोग मासूम के कातिलों को फांसी दो के बैनर हाथों में लेकर जुलूस के रूप में मेन बाजार की ओर बढ़ने लगे। इस बात की जानकारी जैसे ही पुलिस अधिकारियों को लगी तो तुरंत ही उन्होंने पुलिस फोर्स को मौके के लिए रवाना किया। 

पुलिस फोर्स ने पुरानी तहसील चौक पर जुलूस को रोक लिया और बिना अनुमति जुलूस न निकालने देने की बात कही। लेकिन जुलूस में शामिल लोगों ने कहा कि यह शांति मार्च है। इसके माध्यम से वह सिर्फ शांतिपूर्ण ढंग से अपना विरोध जता रहे हैं। पुलिस के साथ इस दौरान हल्की धक्का-मुक्की भी हुई। मार्च के दौरान पुलिस भी उनके साथ-साथ रही। नगर निगम चौक पर पहुंचकर लोगों ने घटना पर विरोध जताते हुए प्रदर्शन किया और दोषियों को फांसी देने की मांग की।  

यह भी पढ़ें: उन्‍नाव और कठुआ की घटनाओं से देश हुआ शर्मसार

यह भी पढ़ें: निजी स्‍कूलों की मनमानी के खिलाफ आंदोलन किया शुरू

यह भी पढ़ें: एनसीईआरटी किताबों ने बढ़ाई मुश्किलें, अभिभावक काट रहे चक्कर

Posted By: Raksha Panthari