हरिद्वार, जेएनएन। उत्तरप्रदेश के बरेली आइजी कार्यालय में तैनात एक दारोगा की बेटी ने हरिद्वार में पुलिस और मीडिया के सामने अपने परिवार पर यौन शोषण समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं। युवती का कहना है कि उसकी मां हिंदू थी, जबकि पिता मुस्लिम हैं। आरोप लगाया कि मां की हत्या करने के बाद पिता उसका जबरन निकाह कराना चाहते हैं। युवती को अपने साथ ले जाने के लिए बदायूं की पुलिस भी हरिद्वार में डेरा डाले हुए हैं। हालांकि युवती ने घर जाने से इनकार कर दिया है। देर रात तक युवती हरिद्वार सिटी मजिस्ट्रेट कोर्ट में मौजूद थी।

मंगलवार दोपहर विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल कार्यकर्ताओं के साथ युवती हरिद्वार कोतवाली पहुंची। पुलिस के सामने भी तमाम आरोप दोहराते हुए सुरक्षा मांगी। युवती ने आरोप लगाया कि दारोगा पिता के अलावा उनके बड़े भाई व बेटों के उत्पीड़न से तंग आकर पांच नवंबर को वह अपनी मर्जी से घर छोड़ आई थी। परिवार में उसका यौन शोषण किया। अब पिता अपने बड़े भाई के बेटे से उसका जबरन निकाह कराना चाहते हैं।

वहीं, मंगलवार की शाम बदायूं से हरिद्वार कोतवाली पहुंची पुलिस टीम का कहना था कि परिवार ने युवती की गुमशुदगी दर्ज कराई हुई है। इसलिए वह युवती को साथ ले जाना चाहती है। युवती ने खुद को बालिग बताते हुए घर जाने से इनकार कर दिया। तब हरिद्वार की पुलिस ने युवती को सिटी मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि युवती को सिटी मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया है। कोर्ट के आदेश अनुसार अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: देहरादून के रानीपोखरी में नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में मुकदमा दर्ज

पिता से जान का खतरा, पीएम से गुहार

युवती का कहना है कि किसी दबाव के बिना उसने अपनी मर्जी से घर छोड़ा है, जिसकी सूचना उसने बदायूं के डीएम और एसएसपी के अलावा महिला आयोग और सीएम पोर्टल पर भी दी थी। युवती ने अपने पिता से जान का खतरा जताते हुए कहा कि बरेली आइजी कार्यालय में तैनात होने के चलते पिता अपनी पोस्ट का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं और उसकी हत्या भी करा सकते हैं। युवती ने मीडिया के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सुरक्षा की गुहार भी लगाई है। युवती का आरोप है कि उत्तर प्रदेश की पुलिस लगातार उस पर घर लौटने दबाव बना रही है और संपर्क में आने वालों को एनकाउंटर की धमकी दी जा रही है।

यह भी पढ़ें: नाबालिग को भगाकर ले गया मामा, किया दुष्कर्म; ग्वालियर में चढ़ा पुलिस के हत्थे

Edited By: Raksha Panthari