संवाद सूत्र, लक्सर: नगर पालिका अध्यक्ष और सभासदों के बीच चल रही आपसी खींचतान में नगर में विकास कार्य अटक गए हैं। मानसून ने दस्तक दे दी है, लेकिन अभी तक निकासी नालों की सफाई का टेंडर नहीं होने से बरसात के दौरान नगरवासियों को जलभराव की समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

लक्सर नगर में 11 वार्ड हैं। इनमें एक वार्ड सभासद की मृत्यु हो जाने के कारण एक वार्ड रिक्त चल रहा है। अन्य 10 वाडरें में से कुछ सभासद और नगर पालिका अध्यक्ष के बीच लंबे समय से खींचतान चल रही है। कई मौकों पर यह खींचतान सतह पर भी नजर आई है। नगरपालिका अध्यक्ष और सभासदों के बीच चल रही खींचतान का असर नगर में होने वाले विकास कार्यों पर भी पड़ रहा है। पालिका के सभासद अध्यक्ष पर मनमानी करते हुए चहेते सभासदों के वार्ड में ही सड़क निर्माण समेत अन्य कार्य कराने का आरोप लगा रहे हैं। आरोप है कि अध्यक्ष की ओर से सभी कार्य अपने चेहेते चुनिदा ठेकेदारों से ही कराए जा रहे हैं, जो पूरी तरह गलत है। हाल ही में पालिका प्रशासन की ओर से जारी किए गए सड़क निर्माण समेत दूसरे कार्यों के टेंडर में भी वार्ड संख्या 2,3,5,9,10,11 में एक भी कार्य के टेंडर नहीं जारी हुए हैं। इसे लेकर सभासदों में नाराजगी है। सभासदों और नगर पालिकाध्यक्ष के बीच इस खींचतान के चलते नगर में विकास कार्य अटक गए हैं। कई वार्डो में सड़क निर्माण समेत दूसरे कार्य होने हैं। सभासद और वार्ड की जनता इनकी मांग कर रही है। लेकिन, आपसी खींचतान के चलते कार्य अटके पड़े हैं। पालिका प्रशासन हर साल बरसात से पहले नगर में निकासी नाले-नालियों की सफाई का कार्य कराता है। प्रशासन की ओर से निकासी नाले नालियों की सफाई के लिए जारी किए गए टेंडर निरस्त किए जाने के कारण अब निकासी नालियों की सफाई में देरी की आशंका जताई जा रही है। ऐसे में अब नगरवासियों को बरसात के दौरान जलभराव की समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। वही नगरपालिका अध्यक्ष अंबरीश गर्ग का कहना है कि केवल तीन सभासद इस तरह के आरोप लगा रहे हैं, जो पूरी तरह गलत है। नगर का विकास उनकी प्राथमिकता है। नगरवासियों को पालिका प्रशासन की ओर से किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

Edited By: Jagran