हरिद्वार, जेएनएन। जनपद में तब्लीगी जमात से लौटे 86 लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया। 12 लोगों की मेडिकल जांच की गई है। अभी तक जनपद में तब्लीगी जमात के क्वारंटाइन होने वाले लोगों का आंकड़ा 424 पहुंच गया है। पुलिस और खुफिया विभाग तब्लीगी जमात से जुड़े ऐसे अन्य लोगों की जानकारी जुटा रहा है, जो एक जनवरी से लेकर लॉकडाउन लागू होने तक निजामुद्दीन होकर हरिद्वार पहुंचे हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज में कोरोना संक्रमितों के मिलने से देशभर में हड़कंप मचा हुआ है। मरकज में हुए जलसे में उत्तराखंड से भी काफी लोगों के हिस्सा लेने की जानकारी मिलने पर शासन-प्रशासन सतर्क है। मरकज होकर हरिद्वार पहुंचे दूसरे राज्यों के तब्लीगी जमात के लोगों और स्थानीय जमातियों को ढूंढ-ढूंढकर मेडिकल कराया जा रहा है। 

पुलिस और खुफिया विभाग की मदद से स्वास्थ्य विभाग ने जिले भर से 338 लोगों को मस्जिद, मदरसों, होटल और गेस्ट हाउसों में क्वारंटाइन किया था। अभी भी यह तलाश जारी रही। ज्वालापुर, मंगलौर और रुड़की क्षेत्र में ऐसे 86 लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया। इसके अलावा पथरी क्षेत्र में 12 लोगों को फेरुपुर इंटर कॉलेज लाकर मेडिकल कराया गया। 

बाद में उन्हें जरूरी हिदायत देकर घर भेज दिया गया। इसके अलावा सुल्तानपुर में भी जमात में शामिल एक व्यक्ति को मेला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। पुलिस को लगातार तब्लीगी जमात के लोगों की सूचनाएं मिल रही हैं। इसके लिए मुस्लिम आबादी वाले थाने कोतवालियों में सेक्टर मजिस्ट्रेट और स्वास्थ्य विभाग की टीमें तैनात की गई हैं। ताकि सूचना मिलते ही फौरन जांच कर क्वारंटाइन किया जा सके।

पानी और गंदगी की समस्या

पुलिस ने बहादराबाद के बौंगला गांव स्थित आर्य इंटर कॉलेज में भारापुर भौरी के करीब 40 लोगों को क्वारंटाइन किया हुआ है। यह लोग अपने परिवार वालों से मोबाइल पर संपर्क में हैं। जरूरी सामान उनके पास पहुंचाया जा रहा है। 

कुछ लोगों ने अपने परिवार वालों को बताया कि उन्हें पानी के लिए भी परेशानी उठानी पड़ रही है। उनका कहना है कि एक बार मेडिकल करने के बाद उनका कोई चेकअप भी नहीं हुआ है। परिवार वालों से ऐसी शिकायतें मिलने के बाद प्रशासन ने आवश्यक निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्‍तराखंड से 713 नहीं, इससे कहीं अधिक लोग गए हैं जमातों में

ज्वालापुर के दो ड्राइवर भी क्वारंटाइन

ज्वालापुर के मोहल्ला तेलियान कैथवाड़ा से एक जमात 40 दिन के लिए मरकज होकर अंबाला गई थी। उसी दौरान कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ने पर करीब 10 दिन पहले जमात वापस ज्वालापुर लौट आई। उन्हें लेने के लिए ज्वालापुर से दो गाड़ियां भेजी गई थी। पुलिस ने जमात के लोगों के साथ-साथ इन दोनों ड्राइवरों को भी क्वारंटाइन कर दिया है। इन लोगों के स्वजनों को भी घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत पुलिस ने दी है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में तीन जमाती मिले कोरोना पॉजिटिव, अस्‍पताल में कराया भर्ती

Edited By: Bhanu Prakash Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट