चकराता(जेएनएन), जेएनएन। लॉकडाउन के चलते घरों में रह रहे लोगों को जौनसार की बेटी योगाचार्या नीलम चौहान तनाव दूर करने को योग की शिक्षा दे रही हैं। वह तनाव दूर करने को ऑनलाइन क्लास के माध्यम से लोगों को योग सिखा रही है, जिससे लोग अपने को फिट और स्वस्थ रख सकें।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए देशभर में लॉकडाउन चल रहा है। कई दिनों से घरों में रह रहे लोग तनाव महसूस कर रहे हैं। लॉकडाउन में तनाव दूर करने को जौनसार के बजऊ गांव निवासी योगाचार्या नीलम चौहान ऑनलाइन योगाभ्यास से लोगों को फिट रहने की तरकीब बता रही है। वह योग शिक्षा के माध्यम से तनाव दूर करने का प्रयास कर रही है, जिससे लोग घर-परिवार में हंसी-खुशी के साथ अच्छे माहौल में समय काट सकें। 

उन्होंने कहा कि योग के जरिए लोग तनाव को दूर भगाने के साथ अपने को फिट रख सकते हैं। नीलम का कहना है अगर हर व्यक्ति रोजाना योग करे तो उसे किसी प्रकार का तनाव नहीं हो सकता। नियमित योग करने से व्यक्ति की इम्यूनिटी पावर बढ़ती है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढऩे से कई प्रकार के रोग और बीमारी दूर हो जाती है। तनावपूर्ण माहौल के चलते लोग मानसिक रूप से बीमार हो जाते हैं, ऐसे में योग के माध्यम से जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है। योगाचार्य नीलम दून योगपीठ संस्थान में कार्यरत है। 

यह भी पढ़ें: योग करे निरोग, आओ हनुमान चालीसा के पाठ के साथ करें सूर्य नमस्कार

उनका कहना है कि योग भारतीय संस्कृति की प्राचीन विद्या है, जिसे हजारों वर्षों की कठिन तपस्या के बाद ऋषि-मुनियों ने मानव जीवन को सुखद और सफल बनाने के लिए प्रदान की है। पूरी दुनिया ने योग की महत्ता को समझा और उसे अपनाया है। योगाचार्या नीलम ने कहा कि लॉकडाउन में वह वोकल एप माध्यम से अब तक तीस हजार लोगों को योग और तनाव दूर करने संबंधी दो सौ से अधिक प्रश्नों के उत्तर देकर उनकी समस्या हल करने का प्रयास किया है। इसके अलावा वह फेसबुक के माध्यम से भी लोगों को कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को योग शिक्षा के जरिए जागरूक कर रही हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी से बचने के लिए योग और आयुर्वेद उपचार सबसे महत्वपूर्ण व कारगर है।

यह भी पढ़ें: योगाभ्यास और पौष्टिक आहार से निरोगी रहता है शरीर, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस