राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Earthquake ALERT! भूकंपीय दृष्टि से बेहद संवेदनशील उत्तराखंड में अब भूकंप आने पर जनसामान्य को मोबाइल पर अलर्ट मिलेगा। इस कड़ी में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (यूएसडीएमए) और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) रुड़की के सहयोग से विकसित 'उत्तराखंड भूकंप अलर्ट एप' लांच किया। इस तरह की पहल करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन गया है। भूकंप के लिहाज से अमेरिका, जापान, मैक्सिको जैसे देशों में इस तरह की तकनीक का उपयोग किया जाता है। भूकंप आने पर जिन क्षेत्रों के इससे प्रभावित होने की संभावना हो, वहां एप से अलर्ट मिलने पर जनसामान्य को सुरक्षित स्थान पर जाने में मदद मिलेगी और भूकंप से होने वाली क्षति को न्यून किया जा सकेगा।

उत्तराखंड भूकंप अलर्ट एप के माध्यम भूकंप के दौरान व्यक्तियों की लोकेशन भी प्राप्त की जा सकती है। साथ ही क्षतिग्रस्त संरचनाओं में फंसे होने पर सूचना दी जा सकती है। इस एप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। यह एप लांच करने के बाद मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस एप से जनसुरक्षा में मदद मिलेगी। जनसामान्य को इसकी अधिक से अधिक जानकारी देने के लिए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार जरूरी है। उन्होंने आपदा प्रबंधन विभाग को लघु फिल्म बनाकर जगह-जगह उसका प्रदर्शन करने के निर्देश दिए। स्कूलों में भी बच्चों को इसकी जानकारी दी जानी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन व्यक्तियों के पास स्मार्ट फोन नहीं हैं, उन्हें भी भूकंप का चेतावनी मैसेज इस एप के माध्यम से मिल सके, यह सुविधा भी प्रदान की जाए। उन्होंने भूकंप की चेतावनी में सायरन व वायस दोनों माध्यम से अलर्ट की व्यवस्था करने, चेतावनी के लिए सायरन टोन अलग से बनाने के निर्देश भी दिए।

इस मौके पर आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डा धन सिंह रावत, मुख्य सचिव डा एसएस संधू, अपर मुख्य सचिव आनंद बद्र्धन, सचिव आपदा प्रबंधन एसए मुरुगेशन, आइआइटी रुड़की के प्रो कमल समेत आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Raksha Panthri