जागरण संवाददाता, देहरादून: Vijayadashami 2021 बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व विजयादशमी आज मनाया जाएगा। शहर में विभिन्न जगहों पर रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले दहन के लिए तैयार किए गए हैं। शहर में सबसे ऊंचा 55 फीट का पुतला हिंदू नेशनल स्कूल परिसर में दहन होगा। आयोजकों ने सभी से कोविड गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है। शहर में मुख्य रूप से बन्नू स्कूल परिसर, हिंदू नेशनल स्कूल, परिसर और प्रेमनगर के दशहरा ग्राउंड पर शाम छह से सात बजे के बीच लंका दहन और पुतला दहन होगा।

दशहरा कमेटी बन्नू बिरादरी इस साल 74वां विजयादशमी उत्सव मनाएगी। 40 से 45 फीट ऊंचा रावण का पुतला और लंका दहन सनातन धर्म इंटर कालेज (बन्नू स्कूल) के परिसर में होगा। दशहरा कमेटी के अध्यक्ष संतोख सिंह नागपाल ने बताया कि इस वर्ष कोरोना गाइडलाइन के अनुसार आयोजन होगा।

प्रेमनगर में शाम को पांच से साढ़े छह तक होगी पूजा

धर्मशाला समिति प्रेमनगर एवं दशहरा कमेटी के तत्वाधान में 30 फीट ऊंचे रावण, मेघनाद और कुंभकरण के पुतले दहन शाम को होगा। कमेटी के मीडिया प्रभारी रवि भाटिया ने बताया कि कोरोना को देखते हुए इस वर्ष पुतलों की ऊंचाई कम रखी गई है। लंका 12 फीट ऊंची रहेगी।

यह भी पढ़ें- Dussehra: परेड ग्राउंड नहीं, बन्नू स्कूल में होगा रावण के पुतले का दहन; जानें- क्यों पुलतों का कद किया जा रहा छोटा

55 फीट रावण के पुतले का होगा दहन

दशहरा लक्ष्मण चौक वेलफेयर सोसायटी की ओर से विजयादशमी का 10वां उत्सव इस बार भी हिंदू नेशनल स्कूल परिसर में मनाया जाएगा। सोसायटी के अध्यक्ष कमलेश अग्रवाल ने बताया कि इस बार मुख्यमंत्री धामी को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया है। सोसायटी केमहामंत्री प्रदीप दुग्गल ने बताया कि इस बार रावण का पुतला 55 फीट ऊंचा बनाया गया है।

शहर में पुतला दहन का समय

  • बन्नू स्कूल रेसकोर्स लंका दहन- 5:30, रावण दहन-6:05
  • दशहरा गाउंड प्रेमनगर- लंका दहन 5:45, रावण, मेघनाद कुंभकरण के पुतलों का दहन 6:05 बजे
  • हिंदू नेशनल स्कूल, लक्ष्मण चौक- रावण, मेघनाद, कुंभकरण के पुतलों का दहन शाम 07 बजे

पूजा का शुभ मुहूर्त

आचार्य बिजेंद्र प्रसाद ममगाईं के अनुसार इस दिन श्रद्धालु मां सरस्वती के अलावा अस्त्र-शस्त्र की पूजा भी करते हैं। पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:50 से 3:10 तक रहेगा।

यह भी पढ़ें- आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा उच्च शिक्षा में विषय के रूप में शामिल होगा आपदा प्रबंधन

Edited By: Sumit Kumar