जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Weather Report उत्तराखंड में मानसून ने जोर पकड़ लिया है। हालांकि, शुरुआत में सूखे के हालात ने किसानों को चिंता में डाल दिया था, लेकिन बीते दो सप्ताह में हुई भारी बारिश ने राहत दी है। बावजूद इसके जुलाई में नौ फीसद कम बारिश दर्ज की गई है। सामान्यत: प्रदेश में जुलाई में 364 मिलीमीटर बारिश होती है, जो इस बार 331 मिलीमीटर तक ही सिमट गई।

इस बार उत्तराखंड में मानसून ने समय से पहले दस्तक जरूर दी, लेकिन इसे रफ्तार पकड़ने में काफी समय लग गया। 13 जून को मानसून के सक्रिय होने के बाद इस माह दो से तीन दौर की बारिश से ही संतोष करना पड़ा। इसके बाद जुलाई के पहले सप्ताह में भी मेघ सामान्य से 66 फीसद कम बरसे। दूसरे सप्ताह में भी सामान्य से सात फीसद कम बारिश हुई। तीसरे सप्ताह में मानसून ने गति पकड़ी और सामान्य से 27 फीसद अधिक बारिश दर्ज की गई। इसके बाद अंतिम सप्ताह में भी बारिश का आंकड़ा सामान्य से छह फीसद अधिक रहा।

मानसून सीजन में अब तक ओवरआल 10 फीसद अधिक बारिश दर्ज की गई है। सामान्यत: प्रदेश में जून और जुलाई में 542 मिलीमीटर बारिश होती है। इस बार इन दोनों महीनों में कुल 594 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। बागेश्वर में सर्वाधिक बारिश दर्ज की गई। पौड़ी, हरिद्वार और उत्तरकाशी में बारिश सामान्य से कम रही।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक 20 फीसद कम और 20 फीसद अधिक बारिश सामान्य मानी जाती है। फिलहाल मानसून की बारिश सामान्य से थोड़ी अधिक है। अगस्त में अच्छी बारिश की संभावना है।

मानसून में अब तक दर्ज की गई बारिश

जनपद, वास्तविक बारिश, सामान्य बारिश, अंतर

बागेश्वर, 1074, 400, 169 फीसद अधिक

चमोली, 669, 342, 96 फीसद अधिक

अल्मोड़ा, 493, 400, 23 फीसद अधिक

टिहरी, 464, 438, 06 फीसद अधिक

देहरादून, 694, 684, 01 फीसद अधिक

रुद्रप्रयाग, 674, 670, 01 फीसद अधिक

चंपावत, 638, 651, 02 फीसद कम

नैनीताल, 661, 680, 03 फीसद कम

पिथौरागढ़, 717, 747, 04 फीसद कम

उत्तरकाशी, 502, 563, 11 फीसद कम

हरिद्वार, 333, 414, 20 फीसद कम

पौड़ी, 421, 528, 20 फीसद कम

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Weather Update: तीन जिलों में तेज बारिश की आशंका, संपर्क मार्ग बाधित होने से जरूरी सामान की आपूर्ति का संकट

Edited By: Raksha Panthri