देहरादून, [जेएनएन]: उत्तराखंड क्रिकेट कंसेंसस कमेटी यूसीसीसी ने उत्तराखंड अंडर-19 महिला टीम का चयन कर 15 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी है। टीम की कमान कंचन परिहार को सौंपी गई है। टीम में दो विकेटकीपर बल्लेबाज को जगह दी गई है। टीम में पांच ऑलराउंडर, दो मध्यम गति के गेंदबाज, एक बांए हाथ के स्पिनर और एक दाएं हाथ के ऑफ ब्रेक गेंदबाज को शामिल किया गया है।

14 अक्टूबर से हिमाचल प्रदेश में होने वाले अंडर-19 टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के लिए उत्तराखंड की महिला अंडर-19 टीम का चयन कर लिया गया है। इसके साथ ही टीम कोच, ट्रेनर, फिजियों व टीम मैनेजर की भी घोषणा कर दी गई है। उत्तराखंड का पहला मुकाबला 15 अक्टूबर को नागालैंड के साथ होना है। इसके लिए टीम 11 अक्टूबर को हिमाचल के लिए रवाना होगी।

यह है टीम

-कंचन परिहार, कप्तान, विकेट कीपर बल्लेबाज

-अंजलि गोस्वामी, बल्लेबाज

-रुचि चौहान, तेज गेंदबाज

-निशा मिश्रा, स्पिनर

-राघवी बिष्ट, ऑलराउंडर

-पूजा राज, स्पिनर

-ज्योति गिरि, बल्लेबाज

-राधा चांद, ऑलराउंडर

-गरिमा रौतेला, मध्यम गति गेंदबाज

-चेतना पांडे, विकेटकीपर बल्लेबाज

-भानवी, मध्य गति गेंदबाज

-अंकिता बिष्ट, ऑलराउंडर

-लक्ष्मी बसेरा, ऑलराउंडर

-मुदिता ग्रोवर, बल्लेबाज

-प्रमिला रावत ऑलराउंडर

कोच- सविता निराला

ट्रेनर- अपूर्वा नाडकरनी

फिजियो- मीनाक्षी नेगी

टीम मैनेजर- निष्ठा फरासी

प्रदेश भर से 410 खिलाड़ियों ने कराया पंजीकरण

उत्तराखंड अंडर-23 टीम चयन के लिए आयोजित पंजीकरण प्रक्रिया में प्रदेश के 410 खिलाडिय़ों ने पंजीकरण कराया। जिनमें 300 पंजीकरण देहरादून और 110 काशीपुर में हुए हैं। पंजीकरण के दौरान खिलाडिय़ों के दस्तावेजों की भी जांच हुई।

कर्नल सीके नायडू ट्रॉफी और अंडर-23 वन डे लीग के लिए बुधवार को पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की गई। टीम समन्वयक महिम वर्मा ने बताया कि कुमाऊं मंडल के ट्रायल काशीपुर की हाईलैंडर क्रिकेट ऐकेडमी व गढ़वाल मंडल के लिए देहरादून तनुष क्रिकेट ऐकेडमी में कराई गई। जहां 300 खिलाड़ियों ने अपना पंजीकरण कराया। 

वहीं कुमाऊं मंडल में 110 खिलाड़ियों ने पंजीकरण कराया। इन खिलाड़ियों के प्रारंभिक ट्रायल 11 और 12 अक्टूबर को कराए जाएंगे। प्रारंभिक ट्रायल में चयनित खिलाड़ियों के फाइनल ट्रायल 14 व 15 अक्टूबर को देहरादून की तनुष क्रिकेट ऐकेडमी में कराए जाएंगे।

पंजीकरण में पहुंचे बाहरी खिलाड़ी

अंडर-23 की पंजीकरण प्रक्रिया में कुछ दूसरे राज्यों के खिलाड़ी भी पंजीकरण कराने पहुंचे, लेकिन पंजीकरण में ही दस्तावेजों की जांच में उन्हें बाहर होना पड़ा। खिलाड़ियों का कहना था कि वो उत्तराखंड में नौकरी कर रहे हैं। जब चयनकर्ताओं ने पिछले छह महीने की तनख्वाह रसीद मांगी तो वे बहाने बना कर वापस चले गए।

यह भी पढ़ें: अंडर-19 टूर्नामेंट के पहले मैच में बिहार से 123 रनों से हारा उत्तराखंड 

यह भी पढ़ें: विजय हजारे ट्रॉफीः करनवीर कौशल के दोहरे शतक से जीती टीम उत्तराखंड

यह भी पढ़ें: अंडर-19 एशिया कप में चमक बिखेर रहे उत्तराखंड के खिलाड़ी

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप