राज्य ब्यूरो, देहरादून। प्रदेश में सरकारी सहायता प्राप्त करने वाले सभी मदरसों का सर्वे कराया जाएगा। उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि सरकारी धन के सदुपयोग और मदरसों में शिक्षा की गुणवत्ता के मद्देनजर यह कदम उठाया जा रहा है।

पिरान कलियर क्षेत्र को लेकर भी दिया बड़ा बयान

शम्स ने हरिद्वार जिले के अंतर्गत पिरान कलियर क्षेत्र को लेकर भी बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र मानव तस्करी व नशे का अड्डा बन गया है। इस गंदगी को साफ करने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे। वहां झाड़ू भी लगेगा और बुलडोजर भी गरजेगा।

उत्तराखंड में वक्फ बोर्ड के अंतर्गत 103 मदरसे

उत्तराखंड में वक्फ बोर्ड के अंतर्गत 103 मदरसे हैं, जबकि मदरसा बोर्ड के अधीन 419। इन सभी को सरकारी सहायता मिलती है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने मीडिया से बातचीत में एक प्रश्न पर कहा कि सर्वे की शुरुआत वक्फ बोर्ड के अधीन संचालित मदरसों से होगी।

हम मदरसों में गुणवत्तायुक्त शिक्षा के पक्षधर

उन्होंने कहा कि हमारी नीयत साफ है। हम मदरसों में गुणवत्तायुक्त शिक्षा के पक्षधर हैं। मदरसों को सरकारी बजट खपाने का अड्डा नहीं बनने दिया जाएगा। बजट का दुरुपयोग करने वाले मदरसों की मान्यता रद कर उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जबकि बेहतर कार्य करने वाले मदरसे प्रोत्साहित किए जाएंगे।

बुलडोजर संबंधी बयान को लेकर आए चर्चा में

हाल में वक्फ बोर्ड की जमीनों को अतिक्रमणमुक्त करने के मद्देनजर बुलडोजर संबंधी बयान को लेकर चर्चा में आए शम्स ने यह भी कहा पिरान कलियर क्षेत्र की स्थिति बेहतर नहीं है। यह क्षेत्र मानव तस्करी और ड्रग्स का बड़ा केंद्र बन गया है। देह व्यापार के मामले भी आए हैं।

दारुल उलूम कादरिया सबरिया के प्रबंधक ने भी भेजा पत्र

इस कड़ी में उन्होंने पुलिस अधिकारियों से हुई बातचीत और स्थानीय अभिसूचना इकाई की रिपोर्ट का हवाला दिया। उन्होंने बताया कि दारुल उलूम कादरिया सबरिया के प्रबंधक ने भी पत्र भेजकर उनका ध्यान इस तरफ आकृष्ट कराया है।

उन्होंने कहा कि पिरान कलियर क्षेत्र से गंदगी दूर करने के लिए पुलिस के सहयोग से अभियान चलाया जाएगा। इस क्षेत्र में जो भी गलत तत्व हैं, उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा नेता शादाब शम्स बने उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के नए अध्यक्ष, निर्विरोध हुआ चुनाव

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट