जागरण संवाददाता, कोटद्वार। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022: ससुर डा. हरक सिंह रावत की लड़ाई आखिरकार रंग ले आई और कांग्रेस ने उनकी पुत्रवधू अनुकृति गुसाईं रावत को लैंसडौन विधानसभा से प्रत्याशी घोषित कर दिया है। मिस इंडिया पैसिफिक वर्ल्ड और मिस इंडिया ग्रैंड इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली अनुकृति के लिए भाजपा में रहते हुए हरक लगातार टिकट की मांग कर रहे थे।

यही कारण था कि हरक की इस मांग से सीटिंग विधायक दिलीप सिंह रावत काफी असहज हो चले थे और दोनों में टिकट की दावेदारी को लेकर काफी बयानबाजी भी हुई। हरक को भाजपा से बर्खास्त किए जाने के बाद जहां दिलीप सिंह रावत बेफिक्र हो गए। वहीं कांग्रेस में शामिल हुए हरक ने पुत्रवधू के लिए लैंसडौन सीट से टिकट की मांग की, जिसे पार्टी ने भी स्वीकार किया और ससुर के संघर्ष का परिणाम बहू को टिकट के रूप में मिल गया।

हालांकि, अनुकृति के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती टिकट के दावेदारों को मनाने की है। बताते चलें कि कांग्रेस से टिकट के दावेदारों ने न सिर्फ पार्टी छोड़ने, बल्कि निर्दलीय प्रत्याशी को मैदान में उतारने की भी चेतावनी दी है। अनुकृति का गुसाईं का कहना है कि वे सभी रूठों को मना लेंगी।

हालांकि, टिकट घोषित होने के बाद जयहरीखाल के ब्लाक प्रमुख दीपक भंडारी ने बताया कि मंगलवार को सभी दावेदारों से इस मामले में चर्चा की जाएगी। चर्चा के बाद आगे की रणनीति तय होगी। टिकट की दौड़ में शामिल ज्योति रौतेला ने कहा कि पार्टी को कार्यकर्त्ताओं की भावनाओं को ध्यान रखना चाहिए था।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Election: हरक सिंह रावत पर बना सस्पेंस, अनुकृति पर साफ हुई तस्वीर; जानिए कहां से लड़ेंगी चुनाव

Edited By: Raksha Panthri