राज्य ब्यूरो, देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय सड़क अवसंरचना निधि (सीआरआइएफ) के अंतर्गत उत्तराखंड में विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए पोटली खोल दी। कोरोना संक्रमण से हालत सुधरने के बाद सड़कों के निर्माण को रफ्तार देने को 391 करोड़ से अधिक की वित्तीय स्वीकृति दी गई है।

टिहरी जिले में नरेंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र के लक्ष्मणझूला में वैकल्पिक सेतु के निर्माण को 68.86 करोड़ रुपये दिए गए हैं। गदरपुर-दिनेशपुर-मदकोटा-हल्द्वानी मोटर मार्ग के चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण को 58.06 करोड़ रुपये और अल्मोड़ा जिले में धारी-डोबा-गिरेछीना मोटर मार्ग को दुरुस्त करने के लिए 15.45 करोड़ की राशि मंजूर की गई है। सुवाखोली-अलमस-भवान-नगुण मोटर मार्ग के पक्कीकरण व सड़क सुरक्षा कार्य को 55.35 करोड़ रुपये और पिथौरागढ़ में गुप्तड़ी-पाताल भुवनेश्वर मोटर मार्ग के गुणवत्ता सुधारीकरण को 12.92 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई।

मुख्यमंत्री ने ऊधमसिंह नगर के नगला-किच्छा राज्यमार्ग को दो लेन चौड़ीकरण व सुधारीकरण को 53.74 लाख रुपये दिए हैं। मरचूला-सराईखेत-बैजरो-सतपुल राज्यमार्ग के सुदृढ़ीकरण को 11.94 करोड़ रुपये, बड़ावाला-कटापत्थर-जुड्डो मोटर मार्ग के लिए 28.63 करोड़ की राशि दी गई है। चंबा-कोटी कालोनी-भागीरथीपुरम मोटर मार्ग के लिए 24.97 करोड़ रुपये, चमोली जिले में मींग गधेरे से गढ़कोट तक मोटर मार्ग के सुधारीकरण को 12.58 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

रुड़की-लक्सर-बालावाली मोटर मार्ग के चौड़ीकरण को 25.18 लाख रुपये, चमोली जिले में पोखरी-कर्णप्रयाग मोटर मार्ग के सुधारीकरण व डामरीकरण को 23.37 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की गई है। मुख्यमंत्री ने राजकीय कन्या इंटर कालेज ज्वालापुर धीरवाली के भवन निर्माण को 1.66 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की है।

यह भी पढ़ें- 100 नए मैदानी मार्गों पर दौड़ेंगी अनुबंधित सीएनजी बसें, उत्तराखंड परिवहन निगम ने लिया ये फैसला

Edited By: Raksha Panthri