राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Assembly Elections 2022 कांग्रेस भले ही 2022 का चुनाव सामूहिक नेतृत्व में लड़ने का दावा करे, लेकिन पार्टी के भीतर एक गुट पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भी आगामी चुनाव में बतौर चेहरा देख रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति अध्यक्ष हरीश रावत ने सोमवार को कुछ युवाओं के अभियान 'सारा उत्तराखंड हरदा के संग' अभियान को लांच किया। 

हरिद्वार बाइपास स्थित एक होटल में विधायक ममता राकेश, समाजसेवी रेखा बहुगुणा व अद्वितीय मेंदोलिया की मौजूदगी में यह अभियान लांच किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अभियान से जुडऩे के लिए हेल्प लाइन नंबर और वेबसाइट को भी जारी किया। उन्होंने कहा कि इस पहल से जनता की विभिन्न समस्याओं की जानकारी व सुझाव मिलेंगे। साथ में आगामी चुनाव में रणनीतिक फैसले लेने में इससे मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि अभियान की मुख्य थीम उत्तराखंडियत जिंदाबाद रहेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के कार्यकाल का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने छोटी-छोटी कई पहल की थीं। उन्होंने कहा कि राज्य के सरोकारों के प्रति अधिक जागरूक होना पड़ेगा। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, रितेश क्षेत्री, राजेश वालिया, अमित रावत समेत कई व्यक्ति उपस्थित थे।

कांग्रेस को दिया समर्थन

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में सोमवार को जय हिंद-जय भारत पार्टी ने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा की। जयहिन्द-जय भारत पार्टी के अध्यक्ष चतर सिंह कश्यप एवं उनके साथियों ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व प्रदेश सहप्रभारी दीपिका पांडेय सिंह को समर्थन पत्र सौंपा।

खनन माफिया की शह पर हुआ यशपाल आर्य पर हमला

इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में महंगाई, भ्रष्टाचार और लोकतंत्र को तार-तार करने वाले काम हावी रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि खनन माफिया की शह पर पूर्व मंत्री यशपाल आर्य व उनके पुत्र संजीव आर्य पर बाजपुर में हमला हुआ।

यह भी पढें- Uttarakhand Assembly Elections 2022: राजनीतिक वार को बैनर-पोस्टर के नारों को दे रहे धार

Edited By: Raksha Panthri