देहरादून, राज्य ब्यूरो। Coronavirus Outbreak सरकार ने प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को बड़ी राहत प्रदान करते हुए अब यहां न्यूनतम दो दिन के लिए आने की बाध्यता समाप्त कर दी है। इतना ही नहीं, अब उन्हें उत्तराखंड आने पर कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट भी नहीं दिखानी होगी।

उत्तराखंड में शासन ने 19 सितंबर को प्रदेश में आने वाले पर्यटकों के लिए एक गाइडलाइन जारी की थी। इसमें कहा गया था कि उत्तराखंड घूमने आने वाले पर्यटकों को न्यूनतम दो दिन राज्य में रहना जरूरी होगा। इतना ही नहीं, उन्हें कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट भी साथ में लानी होगी। ऐसा न करने पर उन्हें राज्य सरकार द्वारा चिह्नित लैब में कोरोना टेस्ट कराना होगा। 

रिपोर्ट आने तक उन्हें होटल में ही रुकने की बाध्यता थी। सरकार के इस आदेश का खासा विरोध भी हो रहा था। अब सरकार ने इस गाइडलाइन को अतिक्रमित करते हुए नई गाइडलाइन जारी की है।मुख्य सचिव और राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। 

अब पूर्व की भांति दो दिन रुकने की बाध्यता नहीं होगी। होटल प्रबंधन जरूर आने वाले पर्यटकों की थर्मल स्केनिंग, सैनिटाइजेशन व शारीरिक दूरी के मानकों का अनुपालन कराएगा। किसी पर्यटक के कोरोना संक्रमित पाए जाने की स्थिति में तुरंत जिला प्रशासन को सूचित करेगा। इसके अलावा होटल प्रबंधन केंद्र सरकार द्वारा कोरोना के लिए जारी नियमों का अनुपालन करना सुनिश्चत कराएगा।

यह भी पढ़ें: Unlock 4.0: उत्तराखंड आ रहे हैं तो इस खबर को पढ़ना न भूलें, यहां आने वालों के लिए नए आदेश जारी

टिहरी झील में रोमांच का सफर 

टिहरी झील में एकबार फिर से रोमांच का सफर शुरू हो गया है। मार्च में लॉकडाउन के बाद से टिहरी झील में बंद बोटिंग शुरू होने से पर्यटकों के चेहरे खिल उठे। पहले दिन हरिद्वार और देहरादून से पहुंचे कुछ युवाओं ने झील में बोटिंग का लुत्फ उठाया। बोट संचालकों ने भी पर्यटकों की थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही उन्हें बोटिंग कराई। 

यह भी पढ़ें:  Unlock 4.0: उत्तराखंड आने वालों को ज्यादा छूट देने की तैयारी, संस्थागत क्वारंटाइन से मिल सकती है राहत 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप