देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड क्रांति दल का द्विवार्षिक महाधिवेशन 24 व 25 जुलाई को हरिद्वार में होगा। महाधिवेशन में सर्व सम्मति व लोकतांत्रिक तरीके से नए अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा। महाधिवेशन के लिए जल्द ही पर्यवेक्षक नियुक्त कर दिए जाएंगे।

प्रेस क्लब में पत्रकारों से बातचीत में उक्रांद के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने यह जानकारी दी। दौरान उन्होंने प्रदेश सरकार को 108 आपात सेवा व बेरोजगारी और पलायन के मामले में पूरी तरह से विफल बताते हुए कहा कि दुर्भाग्य की बात है कि स्वयं मुख्यमंत्री की कमान में चलने वाला स्वास्थ्य विभाग आज दवाओं, डॉक्टरों व चिकित्सा उपकरणों के साथ पीने के पानी जैसी आवश्यक सुविधाओं के अभाव से गुजर रहा है।

कहा कि 108 आपातकालीन सेवा ठप होने से प्रदेश की जनता का जीवन जोखिम में पड़ गया है और निजी एंबुलेंस मालिक मनमाने दाम वसूल रहे हैं। उक्रांद अब 108 कर्मचारियों के साथ एम्स के निष्कासित कर्मचारियों और स्थानीय बेरोजगारों को उपनल व अन्य रोजगार प्रदाता संस्था में नियुक्तियां देने की लड़ाई लड़ेगा। इस दौरान उन्होंने परिसीमन का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरकार जनसंख्या के आधार पर परिसीमन करना चाहती है। अगर ऐसा हुआ तो अगले परिसीमन के बाद गढ़वाल क्षेत्र में काफी कम सीटें बच जाएगी और मैदानी क्षेत्रों में सीटों की संख्या अधिक।

क्योंकि पहाड़ी क्षेत्रों से लगातार पलायन हो रहा है। इससे पहाड़ों का विकास बिल्कुल ठप हो जाएगा। इसलिए उन्होंने परिसीमन जनसंख्या नहीं अपितु भौगोलिक आधार पर किए जाने की मांग की। पत्रकार वार्ता में संरक्षक बीडी रतूड़ी, त्रिवेंद्र पंवार, जय प्रकाश उपाध्याय, हरीश पाठक, राकेश राजपूत, संजय क्षेत्री आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें: भाजपा विधायकों के विवाद की जांच करेगी तीन सदस्यीय कमेटी

यह भी पढ़ें: पार्षदों ने की आपात बैठक, महापौर का चढ़ा पारा; बताया उनके खिलाफ साजिश

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस