देहरादून, जेएनएन। बच्चों से खतरनाक तरीके से काम कराए जाने की सूचना पर पुलिस ने जिला टास्क फोर्स के साथ गांधी रोड स्थित दून दरबार और मुरादाबादी रेस्टोरेंट पर छापा मारा। आरोप है कि इस दौरान पुलिस की रेस्टोरेंट के मालिक और कर्मचारियों से नोकझोंक भी हुई और बच्चों को भगा दिया गया। इस पर पुलिस दोनों के मालिकों को हिरासत में लेकर कोतवाली आ गई। बाद में बच्चों को पुलिस के हवाले कर दिया गया, जहां से उन्हें चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया। 

वहीं, रायपुर के एक स्वीट शॉप में भी नाबालिग काम करता मिला। मामले में दोनों रेस्टोरेंट और स्वीट शॉप के मालिक के खिलाफ बाल श्रम अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। रेस्टोरेंट व स्वीट शॉप के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

पुलिस के अनुसार, बाल श्रम रोकने के लिए गठित जिला टास्क फोर्स को सूचना मिली थी कि गांधी रोड स्थित दून दरबार व मुरादाबादी कमाल चिकन बिरयानी रेस्टोरेंट पर बच्चों से खतरनाक तरीके से काम कराया जा रहा है। दहकती भट्ठियों के किनारे काम कर रहे ये बच्चे कभी बड़े हादसे का शिकार हो सकते हैं। 

टास्क फोर्स ने इसकी सूचना एसएसपी अरुण मोहन जोशी को दी। एसएसपी ने एसपी सिटी श्वेता चौबे को संबंधित थाने की फोर्स भेज कर कार्रवाई की निर्देश दिया। इसके बाद कोतवाली से पुलिस बल के साथ टास्क फोर्स के पदाधिकारी और सदस्य रेस्टोरेंट पर पहुंचे। 

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो टास्क फोर्स ने जैसे ही बच्चों से पूछताछ करने की कोशिश की तो मालिक बीच में आ गया। उसने बच्चों को वहां से भगा दिया। इसके बाद मौके पर अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। बच्चों को भगाने पर उसकी पुलिस से भी नोकझोंक हुई। इसके बाद पुलिस ने दून दरबार के मालिक हाजी सुभान को हिरासत में ले लिया। 

वहीं, मुरादाबादी रेस्टोरेंट के यहां भी एक बच्चा काम करता मिला। पुलिस ने इस रेस्टोरेंट के मालिक इकरार निवासी गांधी रोड को भी हिरासत में ले लिया। इसके बाद टीम रायपुर पहुंची, जहां कृष्णा स्वीट शॉप में एक बच्चा काम करता मिला। पुलिस ने तीनों बच्चों को मुक्त कराते हुए चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया। 

यह भी पढ़ें: मसूरी के बोर्डिंग स्कूल में नशा पहुंचने पर बाल आयोग ने उठाए सवाल, पढ़ि‍ए पूरी खबर

मामले में हाजी सुभा, इकरार अहमद के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है, जबकि कृष्णा स्वीट शॉप के मालिक जोत सिंह गुनसोला के खिलाफ रायपुर थाने में बाल श्रम अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। तीनों दुकानों के मालिकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी सिटी श्वेता चौबे के मुताबिक, अब शहर में अभियान चलाकर देखा जाएगा कि कहां-कहां बच्चे काम कर रहे हैं। बाल श्रम अधिनियम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें: बाल आयोग ने नियमों की अनदेखी करने पर दून स्कूल के हेडमास्टर को किया तलब

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप