ऋषिकेश, [जेएनएन]: वसंत पंचमी में मां सरस्वती की पूजा के साथ ही ऋषिकेश में श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया। साथ ही झंडा चौक पर ध्वजारोहण के साथ वसंतोत्सव का शुभारंभ हो गया। 

सुबह ठंड के बावजूद गंगा में स्नान करने वाले त्रिवेणी घाट सहित अन्य घाटों पर जुटने लगे। इस मौके पर त्रिवेणी घाट पर लायंस क्लब डिवाइन द्वारा चाय वितरण का कार्यक्रम भी चलाया गया। 

शहर के प्रमुख झंडा चौक पर झंडारोहण से वसंत उत्सव का आगाज हो गया। श्री भरत भगवान को तीर्थ नगरी का ग्राम में देवता माना जाता है। पौराणिक काल से ही यहां वसंत पंचमी का मेला लगता है और इसी दिन से वसंत उत्सव का शुभारंभ होता है। 

इसी मौके पर झंडा चौक में वसंत उत्सव का झंडा फहराया गया। इस पावन पर्व पर सुबह तड़के से ही नगर तथा आसपास क्षेत्र से श्रद्धालुओं का गंगा स्नान के लिए पहुंचना शुरू हो गया था। त्रिवेणी घाट पर श्रद्धालुओं ने स्नान के साथ दान कर पुण्य कमाया। 

वहीं, लोक निर्माण विभाग अतिथि गृह से पर्यावरण संरक्षण के लिए साइकिल रैली निकाली गई। रैली को पुलिस उपाधीक्षक वीरेंद्र सिंह रावत ने  रवाना किया। वहीं, श्री भरत मंदिर परिसर में बसंत पंचमी का मेला लगाया गया है। वसंत पंचमी को लेकर श्रद्धालुओं के साथ ही बच्चों में पतंगबाजी का उत्साह देखा गया। 

भरत महाराज की निकाली डोली यात्रा 

वसंत पंचमी के पावन अवसर पर श्री भरत मंदिर स्थित भगवान भरत महाराज की डोली यात्रा को पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने विधिवत पूजा अर्चना के पश्चात रवाना किया। सैकड़ों श्रद्धालु डोली यात्रा में शामिल हुए।

श्री भरत मंदिर में महंत अशोक प्रपन्न शर्मा के सानिध्य में भगवान भरत महाराज की विधिवत पूजा अर्चना की गई। दोपहर करीब 1:00 बजे मंदिर से डोली यात्रा प्रारंभ हुई। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने मंदिर में पूजा-अर्चना की। 

यात्रा पुराना बद्रीनाथ मार्ग मायाकुंड होते हुए त्रिवेणी घाट पहुंची। जहां गंगा में डोली को स्नान कराने के पश्चात पुनः रवाना किया गया। नगर के मुख्य मार्गो से डोली यात्रा गुजरी। जगह-जगह श्रद्धालुओं ने भगवान भरत महाराज की पूजा अर्चना की। 

इस अवसर पर वरुण शर्मा, वत्सल शर्मा, पूर्व विधायक विजय बड़थ्वाल, भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष कुसुम कंडवाल, पूर्व पालिका अध्यक्ष दीप शर्मा, बचन पोखरियाल, हर्षवर्धन शर्मा, जयेंद्र रमोला, रवि शास्त्री, भगतराम कोठारी, विनय उनियाल, संजीव गुप्ता, उषा रावत, विमला रावत आदि शामिल हुए।

यह भी पढ़ें: पांडुकेश्वर स्थित कुबेर मंदिर में विराजमान हुए धन कुबेर

यह भी पढ़ें: इस कारण बदलती है मकर संक्रांति की तिथि, राशिफल देख करें दान

यह भी पढ़ें: यहां भी बसते हैं भगवान बदरी विशाल, पवित्र जल करता है रोगमुक्त

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस