देहरादून, राज्य ब्यूरो। गैरसैंण को लेकर नौकरशाह बेपरवाह बने हुए हैं। इसकी बानगी तब देखने को मिली, जब गैरसैंण के चरणबद्ध विकास की रूपरेखा तय करने के उद्देश्य से विधानसभा परिसर में बुलाई गई गैरसैंण विकास परिषद की बैठक में शासन के आला अधिकारी नदारद रहे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सख्त नाराजगी जताते हुए बैठक स्थगित कर दी।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में विस परिसर के सभागार में गैरसैंण विकास परिषद की बैठक आहूत की गई थी। इसमें चमोली एवं अल्मोड़ा के जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ ही शासन स्तर से विभिन्न विभागों के आला अधिकारियों को उपस्थित होना था। 

बैठक में शासन का कोई भी आला अधिकारी नहीं पहुंचा। इस पर विस अध्यक्ष ने बैठक स्थगित कर दी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जन भावनाओं के अनुरूप गैरसैंण का विकास हमारी प्राथमिकता है। गैरसैंण के चरणबद्ध विकास की रूपरेखा और समस्याओं पर चर्चा के लिए गैरसैंण विकास परिषद की बैठक रखी गई थी। 

अधिकारियों के इस महत्वपूर्ण बैठक से गैरहाजिर रहने पर सख्त नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि गैरसैंण के विकास के लिए अधिकारियों को गंभीरता से सोचना होगा। बैठक में सीडीओ चमोली, एडीएम अल्मोड़ा, अपर सचिव लोनिवि, एसडीएम चौखटिया, मुख्य अभियंता लोनिवि गढ़वाल, ईई लोनिवि गैरसैंण, ईई ऊर्जा निगम, ईई सिंचाई थराली समेत जिला स्तर के अधिकारी मौजूद थे। 

बैठक में नहीं पहुंचे ये अफसर 

अपर मुख्य सचिव-प्रमुख सचिव वित्त, प्रमुख सचिव पेयजल, सिंचाई, ऊर्जा व लोनिवि, सचिव ग्राम्य विकास व आवास, वरिष्ठ नियोजक नगर एवं ग्राम्य नियोजन के अलावा डीएम चमोली, अल्मोड़ा, सीडीओ अल्मोड़ा। बताया गया कि इन सभी अधिकारियों को परिषद के सदस्य सचिव एवं सीडीओ चमोली की ओर से पूर्व में आमंत्रण पत्र भेजे गए थे।

कुंभ मेले के लिए स्थायी निर्माण कार्यो को दें प्राथमिकता

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने वर्ष 2021 में होने वाले कुंभ मेले के दौरान स्थायी कार्यो से संबंधित प्रस्तावों को ही अधिक प्राथमिकता के साथ भेजने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इससे भविष्य में भी जनता को उन कार्यो का लाभ मिल सकेगा। उन्होंने मेला क्षेत्र के चौराहों व तिराहों पर धार्मिक एवं योग संबंधित प्रतिमाएं लगाकर क्षेत्र को अधिक आकर्षित करने का भी सुझाव दिया। 

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधानसभा में कुंभ मेला प्राधिकरण क्षेत्र में आने वाले ऋषिकेश के क्षेत्रों में कुंभ मेला से संबंधित विभागों व अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने ऋषिकेश क्षेत्र के अंतर्गत सिंचाई विभाग से त्रिवेणी घाट सहित अन्य घाटों पर प्राथमिकता से काम करने की बात कही। 

उन्होंने ऋषिकेश के अंतर्गत कोयल ग्रांट, मनसा देवी तिराहा, नेपाली फार्म, गंगानगर पार्क, एवं आईएसबीटी के सौंदर्यीकरण पर विशेष जोर दिया। विधानसभा अध्यक्ष ने पेयजल विभाग से ऋषिकेश में पुरानी पाइप लाइन को बदलने के लिए कुंभ में प्रस्ताव भेजने के लिए कहा। 

बैठक में उन्होंने ऋषिकेश में स्थायी हेलीपैड बनाने, वन विभाग से संजय झील के सौंदर्यीकरण एवं विस्तारीकरण की भी बात कही। विधानसभा अध्यक्ष ने जन प्रतिनिधियों को कुंभ मेले संबंधी बैठकों में न बुलाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और उप मेला अधिकारी से कुंभ विकास प्राधिकरण की बैठकों में विधायकों को बुलाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

बैठक में हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण के सचिव कृष्ण कुमार मिश्रा, उप मेला अधिकारी कुंभ मेला मनोज कुमार सिंह, डीएफओ देहरादून राजीव धीमान, नगर आयुक्त एवं उपजिलाधिकारी ऋषिकेश प्रेम लाल आदि अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: राफेल मामले में केंद्र सरकार पर बरसीं सांसद शैलजा कुमारी

यह भी पढ़ें: राफेल मुद्दे पर भाजपा ने किया राहुल गांधी के खिलाफ प्रदर्शन

यह भी पढ़ें: राफेल पर राहुल के बयान के विरोध में कांग्रेस भवन पहुंचे भाजपार्इ, बवाल

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस