देहरादून, [जेएनएन]: समाज कल्याण विभाग की ओर से आयोजित विचार संगोष्ठी में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि किसी भी सरकार के लिए दलित और वंचितों का विकास सर्वोपरि होना चाहिए। जब तक यह तबका सशक्त नहीं होगा, विकास के तमाम आंकड़े व्यर्थ साबित होंगे। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री ने प्रदेश में ग्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ भी किया।

शनिवार को सर्वे चौक स्थित आइआरडीटी प्रेक्षागृह में डॉ. आंबेडकर जयंती के अवसर पर आयोजित संगोष्ठी में मुख्य अतिथि शहरी विकास मंत्री कौशिक ने कहा कि कुछ ऐसी शक्तियां भी सक्रिय हैं, जो चाहती नहीं कि दलित और शोषित शिक्षित हों। कहा कि केंद्र सरकार ने आंबेडकर जयंती के अवसर पर सभी राज्यों में ग्र्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ किया है।

कहा कि उत्तराखंड में भी कार्यक्रम शुरू हो गया है। इसके तहत पिछड़े गांवों में सरकारी योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन किया जाएगा, ताकि उन्हें सशक्त बनाया जा सके। विशिष्ट अतिथि विधायक खजानदास ने कहा कि डॉ. आंबेडकर ने विषम परिस्थितियों में जन्म लिया और संघर्ष किया। 

उन्होंने विषम परिस्थितियों को अपनी ताकत बनाया और नए आयाम स्थापित किए। उन्होंने कहा कि आज हर नौजवान को आंबेडकर बनने की आवश्यकता है। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री कौशिक व विधायक  राजपुर रोड खजानदास ने संयुक्त रूप से गांवों के लिए उजाला वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 

यह वैन गांवों में एलईडी बल्ब वितरित करेगी और ऊर्जा संरक्षण के लिए प्रेरित करेगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समाज कल्याण निदेशक मेजर योगेंद्र यादव ने विभाग की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। इस अवसर पर शहरी विकास सचिव मनीषा पंवार, डीएवी पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. देवेंद्र भसीन, जिला समाज कल्याण अधिकारी अनुराग शंखधर, सहायक समाज कल्याण अधिकारी दीपांकर घिल्डियाल, जिला प्रोबेशन अधिकारी मीना बिष्ट उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक धामी समेत दर्जनों कांग्रेसी गिरफ्तार व रिहा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम ने दलितों संग लंगर छक दिया समरसता का संदेश

Posted By: Sunil Negi