देहरादून, जेएनएन। गंगा के लिए अनशन कर रहे संत गोपालदास बुधवार रात दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय से अचानक गायब हो गए। जिस पर अस्पताल प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। पुलिस ने तलाश की पर उनका कहीं पता नहीं चला। अब अस्पताल की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है। 

बता दें कि संत गोपलदास को बुधवार ही अस्पताल में भर्ती किया गया था। उनकी निगरानी के लिए दो पुलिसकर्मियों को सादी वर्दी में तैनात किया गया था। इस सबके बावजूद गोपलादास अस्पताल से गायब हो गए। 

संत गोपालदास को अस्पताल दर अस्पताल भर्ती और रेफर करने का सिलसिला जारी है। हालत ये है कि ऋषिकेश से दिल्ली तक के बड़े अस्पतालों में गोपालदास भर्ती और रेफर हो चुकेहैं। बुधवार को उन्हें दून अस्पताल के वार्ड नंबर 14 में भर्ती किया गया है। गोपालदास लंबे समय से भूख हड़ताल पर हैं। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके टम्टा ने बताया कि उन्हें बुधवार को भर्ती कराया गया था।

यहां उनकी हालत स्थिर थी। वह घूम फिर रहे थे। दोपहर में मीडिया से बातचीत में गोपाल दास ने बताया था कि वह एम्स ऋषिकेश अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें जब होश आया था तो वह दून में थे। उन्हें नहीं पता कि वह कैसे दून अस्पताल पहुंचे। इस बीच बुधवार देररात गोपलदास अचानक लापता हो गए। जिसकी सूचना स्टाफ ने चिकित्सा अधीक्षक को दी। जिनका कहना है कि जिलाधिकारी को इसकी सूचना दे दी गई है। जहां तक सुरक्षा में चूक का सवाल है, वहां पुलिसकर्मी तैनात थे। जिनकी जिम्मेदारी थी कि वह गोपलदास पर नजर रखते। अस्पताल की तरफ से सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराई गई है।

यह भी पढ़ें: सानंद के अंतिम दर्शन को एम्स नहीं जाएगा मातृसदन, जानिए वजह

यह भी पढ़ें: स्वामी गोपालदास ने खून से लिखा पत्र, प्रशासन की टीम ने एम्स में कराया भर्ती

Edited By: Sunil Negi