ऋषिकेश, दुर्गा नौटियाल। कोरोना वायरस के खिलाफ इस समय पूरा देश जंग लड़ रहा है। कई लोग कोरोना के खिलाफ फ्रंट लाइन में खड़े होकर अपना धर्म निभा रहे हैं, तो आम जन भी घरों में कैद होकर कोरोना संक्रमण के चक्र को तोड़ने में अहम भूमिका अदा कर रहे हैं। तमाम लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाने के साथ जन-जन को जागरूक करने का काम कर रहे हैं। तीर्थनगरी के चित्रकार राजेश चंद्र के चित्र भी इन दिनों खूब चर्चाओं में हैं। सोशल मीडिया पर इन चित्रों को खासा पसंद किया जा रहा है और लोग इन्हें शेयर भी कर रहे हैं।

मूल रूप से बंदासा, कीर्तिनगर टिहरी गढ़वाल निवासी राजेश चंद्र ऋषिकेश के भल्ला फार्म में रहते हैं। राजेश चंद्र ने निर्मल ज्ञानदान अकादमी से इंटरमीडिएट करने के बाद मिनर्वा कॉलेज देहरादून से फाइन आर्ट में स्नातक किया है। वर्तमान में राजेश चंद्र दून इंटरनेशनल स्कूल में बतौर आर्ट शिक्षक सेवाएं दे रहे हैं। पिछले दो सप्ताह से लॉकडाउन के कारण राजेश चंद्र भी अपने घर में ही हैं। राजेश चंद्र जहां कोरोना के खिलाफ सीधी जंग लड़ रहे पुलिस, चिकित्सक, नर्सिंग स्टॉफ और सफाई कर्मियों का हौसला बढ़ाने के लिए प्रेरक चित्र बना रहे हैं। वहीं, लोगों को घर में रहने के लिए प्रेरित करने वाले चित्र बनाकर सार्थक संदेश भी दे रहे हैं। 

चित्रकार राजेश द्वारा हाल में ही बनाए दो चित्र इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने एक चित्र बनाया था, जिसमें एक ओर कोरोना वायरस को रोकने का प्रयास कर रहे चिकित्सक और दूसरी ओर जनता को घरों में रोकने का प्रयास कर रहे पुलिसकर्मी को दर्शाया गया था। इसके बाद उनका एक अन्य भावुक चित्र भी सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है।

इस चित्र में राजेश ने एक पुलिसकर्मी को घर के बाहर बैठक भोजन करते दिखाया गया है, वहीं कुछ दूरी पर पुलिसकर्मी की नन्हीं बेटी दरवाजे की ओट से अपने पिता को देख रही है। हाल में ही उत्तराखंड पुलिस ने भी अपने ट्विटर हैंगर पर यह दोनों चित्र शेयर किए हैं। राजेश का कहना है कि कोरोना जैसी महामारी को हम तभी हरा सकते हैं, जब हम सभी एकजुट होकर अपना-अपना दायित्व निभाएंगे।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: संक्रमण की परवाह किए बगैर कोरोना से जंग में जुटी ये महिला चिकित्सक

कई हस्तियों के चित्र बना चुके हैं राजेश

राजेश चंद्र अभी तक कई हस्तियों के चित्र बना चुके हैं। इनमें सिनेमा के महानायक अमिताभ बच्चन, रजनीकांत, राजनेता अटल बिहारी वाजपेयी, नरेंद्र मोदी जैसी शख्सियतें शामिल हैं। वह पहली महिला एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल सहित मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, सांसद रमेश पोखरियाल निशंकआदि को उनके चित्र बनाकर भेंट भी कर चुके हैं। राजेश चंद्र बताते हैं कि उनका मुख्य विषय पर्यावरण तथा उत्तराखंड की परंपरा और सांस्कृतिक विरासत है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: पहली पांत के पहले सेनापति हैं डॉ. सुबेग सिंह, दिनरात कर रहे हैं सेवा

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस