देहरादून, जेएनएन। धर्मपुर विधानसभा के सहायक निर्वाचन अधिकारी ने आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में भाजपा महानगर अध्यक्ष समेत आठ को नोटिस जारी किया है। आरोप है कि भाजपा के प्रचार को बिना मकान मालिक की स्वीकृति के वॉल पेटिंग कर दी गई। इस मामले में 27 मार्च तक स्पष्टीकरण तलब किया गया है। 

चुनाव आयोग ने इस बार आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत दर्ज कराने के लिए सी-विजिल एप लांच किया है। इस एप में कोई भी आचार संहिता से जुड़ी शिकायत दर्ज करा सकता है। हालांकि प्रचार-प्रसार के अभाव में अभी तक आठ शिकायतें ही दर्ज हो पाई हैं। इनमें से एक शिकायत धर्मपुर निवासी पवन नेगी ने की है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि राजीवनगर में मकान मालिक की अनुमति के बगैर भाजपा की प्रचार वाली वॉल पेटिंग बनाई गई है। इस मामले में सहायक निर्वाचन अधिकारी ने मौके पर निरीक्षण किया तो शिकायत सही पाई। इस पर एआरओ कमलेश मेहता ने भाजपा महानगर अध्यक्ष समेत वॉल पेटिंग में लिखे गए नाम महिताब सिंह नेगी, राजेंद्र सिलोड़ी, सुषमा मैंदोलिया, अंजलि पंत, रणजीत भंडारी, गणोश सिलमाना को नोटिस जारी कर दिया है। 

दून और रुड़की में पकड़े 4.20 लाख रुपये 

लोकसभा चुनाव में काले धन के इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए गठित स्टेटिक टीमों ने देहरादून में 2.30 लाख रुपये और रुड़की में 1.90 लाख रुपये की नकदी पकड़ी। नकदी के साथ पकड़े गए लोगों से आयकर और प्रशासन के आला अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। 

एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि रविवार देर रात करीब एक बजे सहारनपुर की ओर से आ रही कार को रोका गया। कार में तीन लोग सवार थे। 

चेकिंग के दौरान कार से 2.30 लाख रुपये बरामद होने के बाद कार सवार लोगों से पूछताछ शुरू की गई। कार सवार लोगों की पहचान अमरजीत सिंह निवासी सूर्य वाला तहसील टिब्बी हनुमानगढ़, राजस्थान, जरनैल सिंह व फतेह सिंह निवासी ग्राम गोविंदगढ़, थाना गोविंदगढ़, अलवर, राजस्थान के रूप में हुई। 

कार चला रहे अमरजीत से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने बताया कि यह रुपये लेकर दोस्तों के साथ देहरादून डीएसएलआर कैमरा खरीदने के लिए आया था। रुपये फरवरी में ही अकाउंट से निकाले गए। लेकिन इस बाबत वह कोई दस्तावेज नहीं दिखा तो पुलिस तीनों को लेकर क्लेमेनटाउन थाने पहुंची। तीनों से पूछताछ की जा रही है। 

उधर, हरिद्वार जिले के रुड़की कस्बे में सोमवार को चेकिंग के दौरान स्टेटिक टीम को रामनगर चौक से गुजर रही एक कार से 1.90 लाख रुपये मिले। कार सवार जितेंद्र चौधरी निवासी गाजियाबाद ने बताया कि वह गाजियाबाद में ही एक कंपनी में सेल्स मैनेजर है। रकम कंपनी की है। हालांकि इस बाबत वह कोई दस्तावेज नहीं दिखा सका। फिलहाल रकम को आयकर विभाग ने अपनी अभिरक्षा में ले लिया है। 

यह भी पढ़ें: यहां अब तक 71.34 लाख की अवैध शराब हो चुकी है जब्त

यह भी पढ़ें:  स्मैक और नशे के इंजेक्शन के साथ पुलिस के हत्थे चढ़ा तस्कर

यह भी पढ़ें: पुलिस के हत्थे चढ़ा तस्कर, सात किलो से ज्यादा गांजा बरामद

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप