जागरण संवाददाता, देहरादून: बढ़ते अपराधों के पीछे एक बड़ी वजह नशा भी है। इसमें चिंताजनक यह है कि युवा पीढ़ी नशे के दलदल में अधिक फंस रही है। दून भी इससे अछूता नहीं है। जाहिर है कि इससे प्रबुद्धजनों के साथ ही पुलिस की चिंता भी अधिक बढ़ गई है। हालांकि, पुलिस के स्तर से नशा तस्करों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इस बुराई पर बिना जनसहयोग के अंकुश नहीं लगाया जा सकता। इस कड़ी में उत्तराखंड पुलिस ने बाकायदा कार्ययोजना तैयार की है।

अपर पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) अशोक कुमार के अनुसार सोशल मीडिया के जरिये भी पुलिस को नशा तस्करों और इसमें संलिप्त तत्वों के बारे में जानकारी दी जा सकती है। इसमें आने वाली सूचनाओं पर शत-प्रतिशत कार्रवाई की जाएगी। साथ ही सूचना देने वाले व्यक्ति की सुरक्षा और गोपनीयता का भी ध्यान रखा जाएगा।

अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने 'दैनिक जागरण' से अपराध एवं कानून व्यवस्था से जुड़ी योजनाओं का साझा किया। उन्होंने कहा कि युवाओं को नशा बर्बादी की ओर ले जा रहा है। छात्रों व नौजवानों को नशे के सौदागर अपने जाल में फंसा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नशे के सौदागरों के साथ ही नशे का सेवन करने वालों के खिलाफ पुलिस सख्ती से पेश आएगी। इसके लिए ' एंटी ड्रग्स टास्क फोर्स' को ज्यादा जिम्मेदार बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि उनके फेसबुक पेज अशोक कुमार आइपीएस, उत्तराखंड पुलिस पेज, व्हाट्सएप नंबर, ई-मेल और लिखित व मौखिक से मिलने वाली प्रत्येक सूचना देने पर पुलिस त्वरित कार्रवाई करेगी।
अपराधियों को सलाखों के पीछे डाला लाएगा। पुलिस का प्रयास है कि नशे के संपूर्ण संजाल को नेस्तनाबूद किया जाए। उन्होंने कहा कि नशे के खिलाफ आमजन को भी आगे आना होगा और इस मुहिम में पुलिस की मदद करनी होगी।

दून में जीएमएस रोड के कट पर जल्द फैसला
अपर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि देहरादून में जीएमएस रोड पर जगह-जगह बने कट बंद करने से ट्रैफिक में सुधार हुआ है। पब्लिक की सुविधा के लिए यह किया गया है। इसके बावजूद यदि पब्लिक को कहीं कोई परेशानी होगी तो एसएसपी को दोबारा परीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा जाएगा। इसके बाद दो किमी के बाद एक कट खोलने पर विचार किया जाएगा।

By Krishan Kumar