देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus News Update उत्तराखंड में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने के साथ ही चिंता भी बढ़ गई है। सोमवार को 207 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले 101 मामले हरिद्वार से हैं। इसके अलावा 47 नैनीताल, 38 देहरादून, छह पौड़ी गढ़वाल, पांच-पांच अल्मोड़ा और उत्तरकाशी, दो चंपावत, एक-एक मामले रुद्रप्रयाग, टिहरी ऊधमसिंह नगर में सामने आए हैं। पांच मरीजों की मौत भी हुई है। वहीं, 101 पूरी तरह से ठीक हुए हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 7800 हो गया है। हालांकि, इनमें से 4538 लोग पूरी तरह से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। वर्तमान में 3134 मामले एक्टिव हैं, जबकि 90 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 38 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।  

पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत 

कोरोना संक्रमित तीन और मरीजों की मौत हो गई। दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डिप्टी एमएस डा. एनएस खत्री ने बताया कि 55 वर्षीय महिला को 28 जुलाई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह पहले एक निजी अस्पताल में भर्ती थी। उन्होंने डायबिटीज थी और नेफ्रोथैरेपी भी चल रही थी। कोरोना संक्रमित होने की वजह से उन्हें यहां आइसीयू में विशेषज्ञ चिकित्सकों की देख-रेख में रखा गया था। सोमवार सुबह उनकी मौत हो गई। पुलिस और प्रशासन की मदद से उनके शव को परिजनों की मौजूदगी में सुपुर्द-ए-खाक कराया जा रहा है। वहीं, एसटीएच में तीन और मरीजों की मौत हुई है। इसमें एक महिला रामनगर की रहने वाली है। उसकी उम्र 48 साल की थी। उसे सांस और निमोनिया से संबंधित दिक्कत थी। दूसरा व्यक्ति कालाढूंगी का रहने वाला था। उसकी उम्र भी 45 साल की थी। दोनों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव थी। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अरुण जोशी ने दोनों की मौत की पुष्टि की है। काठगोदाम निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति हार्ट अटैक के चलते एसटीएच में भर्ती हुआ था। जांच में कोरोना पॉजिटिव भी निकला था। उनकी रात को मौत हो गई। वहीं, 46 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज की एम्स अस्पताल में मौत हुई है। तवहीं,  एसटीएच में भर्ती कोरोना संक्रमित की रात में मौत हो गई। 

कॉन्स्टेबल कोरोना संक्रमित 

रुड़की एसओजी कार्यालय में तैनात एक कॉन्स्टेबल कोरोना संक्रमित पाया गया है, जिसके बाद एसओजी कार्यालय को सील कर दिया गया है। साथ ही एसओजी प्रभारी समेत अन्य कर्मियों को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। मंगलवार को उनके सैंपल लिए जाएंगे। संक्रमित कॉन्स्टेबल को कोविड केयर सेंटर में शिफ्ट किया गया है।

विधायक दिलीप रावत के दो भतीजों में भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि

कोटद्वार के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती लैंसडाउन विधानसभा से विधायक दिलीप रावत के छोटे भाई की पत्नी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद अब दो भतीजों में भी कोरोना संक्रमण पाया गया है। प्रमुख अधीक्षक डॉक्टर वीसी काला ने यह जानकारी देते हुए बताया कि देर रात आई रिपोर्ट में दोनों बच्चों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। बताया कि परिवार के 17 लोगों में दो बच्‍चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जबकि में अन्य 15 सभी सदस्यों की कोराना जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है।

उत्तराखंड में कोरोना लगातार डरा रहा है। यहां न केवल संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है, बल्कि मौत का आंकड़ा भी दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। रविवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमित छह और मरीजों की मौत हो गई। यह एक दिन में मौत का सर्वाधिक आंकड़ा है। अब तक राज्य में कोरोना संक्रमण के चलते 89 मरीजों की मौत हो चुकी है। इस बीच, 146 नए मामले भी सामने आए। 

रविवार को जिन छह मरीजों की मौत हुई है, उनमें तीन दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती थे। कॉलेज के डिप्टी मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ एनएस खत्री ने बताया कि उत्तरकाशी निवासी 71 वर्षीय महिला को कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आने पर निजी अस्पताल से यहां रेफर किया गया था। महिला ने इमरजेंसी में पहुंचते ही दम तोड़ दिया। केहरी गांव निवासी 68 वर्षीय एक व्यक्ति को 26 जुलाई को अस्पताल में भर्ती किया गया था। स्थिति गंभीर होने पर उसे आइसीयू में रखा गया। उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। वह कोरोना पॉजिटिव था। सेलाकुई निवासी 44 वर्षीय एक व्यक्ति का कोरोना संक्रमण की वजह से 30 जुलाई से दून मेडिकल कॉलेज के आइसीयू में इलाज चल रहा था। रविवार को उसने भी दम तोड़ दिया। 

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्तराखंड में कोरोना के 264 मामले, एक और मरीज की मौत

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में हरिद्वार जिले के लंढौरा रुड़की निवासी 46 वर्षीय मरीज की मौत हुई है। उसे कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी थी। देर शाम हल्द्वानी स्थित डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में भी कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। इसमें 77 वर्षीय एक महिला लालकुआं की और 55 वर्षीय व्यक्ति हल्द्वानी निवासी थे। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि इन्हें हाई बीपी और सांस संबंधी दिक्कत भी थी।

यह भी पढ़ें: जिला जेल में दो दिन से नहीं हुई बंदियों की जांच, आज एक बंदी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस