देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड के सात जिलों में अगले दो दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मौसम केंद्र के मुताबिक चमोली, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, देहरादून, पिथौरागढ और नैनीताल में भारी से भारी बारिश हो सकती है। इसके चलते रुद्रप्रयाग और उउत्तरकाशी जिले मेंं सोमवार को एक से 12 तक के सभी स्कूलों में अवकाश घोषित किया है। वहीं, इधर गंगोत्री मार्ग को खोलने के लिए सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) की टीम पूरी रात जुटी रही। पहाड़ी से खिसकर हाईवे पर आई चट्टान को ब्लास्टिंग करके हटाया जा सका। सुबह करीब तीन बजे हाईवे को यातायात के लिए सुचारु किया जा सका। इधर, यमुनोत्री मार्ग डाबरकोट में सुबह करीब दो घंटे बाधित रहा। 

गंगोत्री हाईवे शनिवार शाम करीब सात बजे उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर थिरांग के पास भूस्खलन के कारण बंद हो गया था। यहां पर भारी मात्रा में बोल्डर और मलबा हाईवे पर जमा हो गया था। इसके बाद से ही बीआरओ की टीम इसे साफ करने में जुट गई थी। टीम पूरी रात यहां जुटी रही। चट्टानें बड़ी होने की वजह से डोजर से नहीं हटाई जा सकी, इसके लिए बीआरओ टीम को ब्लास्टिंग करनी पड़ी। सुबह करीब तीन बजे हाईवे खुल पाया। इसके बाद से यहां वाहनों की आवाजाही हो रही है। 

रविवार सुबह यमुनोत्री हाईवे डाबरकोट में बंद हो गया। इससे यहां काफी संख्या में यात्री फंसे रहे। करीब दो घंटे बाद हाईवे सुचारु हुआ, तब जाकर यात्रियों ने राहत की सांस ली। उधर, उत्तरकाशी सुवाखोली देहरादून मार्ग पर शनिवार की देर शाम को रेत से भरा एक डंपर अनियंत्रित होकर सुवाखोली के निकट पलट गया। इससे यह मार्ग करीब 14 घंटे तक बंद रहा। इसके कारण रविवार दोपहर तक उत्तरकाशी से देहरादून और देहरादून से उत्तरकाशी आवाजाही करने वाले पर्यटकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। 

बदरीनाथ हाईवे कंचनगंगा में जल स्तर बढ़े से करीब ढाई घंटे बाधित रहा। सुबह छह बजे यहां अचानक जल स्तर बढ़ने के साथ ही मलबा हाईवे पर आ गया। करीब साढ़े आठ बजे इसे हटाकर यातायात सुचारु किया जा सका। 

बोल्डर की चपेट में आने से युवक की मौत

उत्तरकाशी के पुरोला में मवेशी को चारा खिलाने जंगल गया एक युवक की पहाड़ी से गिरे बोल्डर की चपेट में आने से मौत हो गई। सिरगा गांव निवासी 30 वर्षीय जगदीश लाल शनिवार को गांव के कुछ अन्य लोगों के साथ मवेशी लेकर जंगल गया था। शाम के वक्त वह पहाड़ी से लुढ़के पत्थर की चपेट में आने से गहरी खाई में गिर गया। 

पिथौरागढ़ जिले में टनकपुर-पिथौरागढ़ हाईवे गुड़ौली के पास आठ घंटे बंद रहा। थल-मुनस्यारी मार्ग भी मलबे के कारण पांच घंटे बंद रहा। बागेश्वर जिले में सरयू नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ने से प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। उधर, हरिद्वार जिले के झबरेड़ा में बारिश से एक आवासीय भवन की छह ढह गई, उमसें रह रहे दो बच्चों समेत चार लोग मलबे में दब गए, समय रहते उन्हें रेस्क्यू कर लिया गया।

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में आफत की बारिश, पत्थर गिरने की वजह से दो घंटे बाधित रही केदारनाथ यात्रा

यह भी पढ़ें: बदला मौसम, कई इलाकों में झमाझम बारिश; बदरीनाथ हाईवे बंद रहने से परेशानी

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस