ऋषिकेश, जेएनएन। राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार हो रही वृद्धि के बाद पुलिस ने जनपद की सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी है। सीमाओं पर आवाजाही करने वालों को आवश्यक पूछताछ के बाद ही आगे जाने दिया जा रहा है। वहीं मालवाक वाहनों की भी गहनता से जांच की जा रही है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। ऋषिकेश के समीपवर्ती डोईवाला क्षेत्र में भी दो संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। इसके अलावा हरिद्वार व देहरादून में भी संक्रमित मरीज मिले हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए देश भर में पहले से ही लॉक डाउन घोषित किया गया है। 

लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी और बिक्री के लिए ही प्रात: सात बजे से एक बजे तक की छूट दी गई है। पिछले दो सप्ताह से जारी लॉकडाउन में कुछ दिनों से जनपदों की सीमाएं भी सील की गई हैं। अब पुलिस ने जनपद की सीमाओं पर और भी चौकसी बढ़ा दी है। 

सीमाओं से आवाजाही करने वाले लोगों को पूछताछ के बाद ही आने-जाने की अनुमति दी जा रही है। जबकि माल वाहक वाहनों की भी तलाशी लेने के बाद ही आगे छोड़ा जा रहा है। कुछ समय पूर्व मालवाहक वाहनों में लोगों को छिपाकर ले जाने के मामले प्रकाश में आये थे। जिसे देखते हुए पुलिस ने अब सख्ती बढ़ा दी है।

थोक मंडी से सेनिटाइज होकर आएंगी सब्जी 

कृषि उत्पादन मंडी समिति ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अब मंडी समिति के गेट पर सेनिटाइजर मशीन लगाने का निर्णय लिया है। कृषि उत्पादन मंडी समिति के अध्यक्ष विनोद कुकरेती ने बताया कि मंडी के वीरभद्र मार्ग स्थित गेट पर इस स्प्रे मशीन को स्थापित किया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: Dehradun Lockdown: गौहरीमाफी और हरिपुरकलां के सारे मार्ग पुलिस ने किए सील Dehradun News

इसके भीतर से पैदल लोगों के अलावा ठेली व छोटे वाहन भी गुजर सकेंगे। इसके भीतर से गुजरते समय ही ठेलियों व वाहनों में जाने वाले फल व सब्जियों पर सेनिटाइजर का स्प्रे हो जाएगा। उन्होंने बताया कि स्टॉक व मूल्य को लेकर मंडी समिति लगातार छापेमारी कर रही है। अभी हमारे पास पर्याप्त स्टॉक है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: हरिद्वार के ज्वालापुर में ढाई लाख की आबादी होम क्वारंटाइन

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस