जागरण टीम, देहरादून। Chardham Yatra 2021 रविवार को रोकी गई यमुनोत्री गंगोत्री और केदारनाथ धाम की यात्रा मंगलवार को फिर से शुरू कर दी गई। रुद्रप्रयाग में आज सुबह आठ हजार से अधिक यात्री सोनप्रयाग से केदारनाथ के लिए रवाना हुए। बदरीनाथ हाईवे कई स्थानों पर अवरुद्ध होने के चलते प्रशासन ने फिलहाल यात्रा शुरू नहीं की। सीएम पुष्कर सिंह धामी के अनुसार मौसम ठीक होने की दशा में बुधवार से बदरी-केदार की यात्रा शुरू कर दी जाएगी ।

अड़तालीस घंटे की बारिश के बाद मंगलवार को गढ़वाल मंडल में कुछ राहत रही। हालांकि चारधाम यात्रा मार्गों पर दिक्कतें बनी रहीं। भारी बारिश को देखते हुए राज्य सरकार ने रविवार को चारों धामों की यात्रा पर रोक लगा दी थी। सुबह यमुनोत्री धाम की यात्रा शुरू कर दी गई। पूरे दिन में यहा रिकार्ड 2381 यात्री दर्शनों के लिए पहुंचे। प्रशासन ने दोपहर गंगोत्री धाम की यात्रा की अनुमति भी दे दी थी, लेकिन राजमार्ग बाधित होने की वजह से धाम तक कोई यात्री नहीं पहुंच पाया। यहां उत्तरकाशी के हर्षिल घाटी में भारी बारिश के कारण गंगोत्री राजमार्ग आठ से ज्यादा स्थानों पर अवरुद्ध हो गया था।

कुछ स्थानों पर दोपहर तक यातायात सुचारु हो गया, लेकिन डबराणी से लेकर सुक्की टॉप के बीच चार स्थानों पर अवरुद्ध राजमार्ग देर शाम खुल पाया। यहां 27 घंटे से यातायात बाधित था। ऐसे में गंगोत्री व हर्षिल से लौट रहे करीब 300 यात्रियों तथा उत्तरकाशी से गंगोत्री धाम जा रहे करीब 500 यात्रियों को दिक्कतें पेश आईं।

इधर, दोपहर बारिश थमने पर गौरीकुंड से 258 यात्रियों का जत्था केदारनाथ धाम के लिए रवाना किया गया, लेकिन कुछ ही देर में बारिश के आसार बनते देख यात्रा को फिर से स्थगित कर दिया गया है। पहले से ही धाम में मौजूद करीब डेढ़ हजार यात्रियों के लौटने का क्रम भी शुरू हुआ। काफी संख्या में यात्री दर्शन कर वापस लौट आए। कुमाऊं के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर लौटते वक्त मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी दोपहर रुद्रप्रयाग पहुंचे। उन्होंने डीएम से यात्रा व्यवस्था संबंधी जानकारी ली। कहा कि, मौसम सही रहा तो बुधवार से केदारनाथ की यात्रा शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने यात्रियों की हरसंभव मदद करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:-Chardham Yatra: बारिश के चलते दूसरे दिन भी यात्रा स्थगित, विभिन्न पड़ावों पर रोके गए 10 हजार श्रद्धालु

Edited By: Sunil Negi