देहरादून, राज्य ब्यूरो। लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में लोगों की कठिनाइयों के निराकरण के लिए सरकारी स्तर से तो कदम उठाए ही जा रहे, राष्टीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) भी विपत्ति की इस घड़ी में अपने स्तर से जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने में मुस्तैदी से जुटा हुआ है। लॉकडाउन के बाद से संघ के स्वयंसेवक राज्य में पांच लाख से अधिक लोगों को भोजन के पैकेट उपलब्ध करा चुके हैं। न सिर्फ भोजन पैकेट बल्कि राशन किट, मास्क, सैनिटाइजर भी जरूरतमंदों को मुहैया कराए जा रहे हैं। यही नहीं, एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखने को जगह-जगह चिह्न भी बनाए जा रहे हैं।

जरूरतमंदों तक मदद पहुंचाने के लिए संघ और उसके 32 आनुषांगिक संगठनों के स्वयंसेवक लॉकडाउन का एलान होने के बाद से ही निरंतर सेवा कार्य में सक्रिय हैं। संघ के प्रांत संयोजक (सामाजिक समरसता) राजेंद्र पंत ने कहा कि प्रदेश में चिह्नित सेवा बस्तियों में निरंतर राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। लॉकडाउन होने के बाद 23 अप्रैल तक संघ कार्यकर्ताओं ने 468 सेवा स्थानों में 5.04 लाख भोजन के पैकेट के साथ ही 21943 राशन किट जरूरतमंदों को उपलब्ध कराई। 24 हजार से ज्यादा मास्क और सेनिटाइजर की करीब पांच हजार बोतलों का वितरण भी किया जा चुका है। इसके अलावा दूसरे प्रांतों में रह रहे उत्तराखंड के 3353 लोगों को भी सहायता मुहैया कराई गई।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand lockdown में जरूरतमंदों की मदद को लोग बढ़ा रहे हैं हाथ, हंस फाउंडेशन भी आया आगे

संघ प्रमुख का संबोधन 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत अक्षय तृतीया पर रविवार को सोशल मीडिया के जरिये स्वयंसेवकों को संबोधित करेंगे। संघ से मिली जानकारी के अनुसार संघ प्रमुख रविवार शाम पांच बजे वर्तमान परिदृश्य में हमारी भूमिका विषय पर स्वयंसेवकों का मार्गदर्शन करेंगे। सोशल मीडिया के जरिये उनके संबोधन का सीधा प्रसारण किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown: पुलिस की मौजूदगी में दुकानों पर होगा राशन वितरण, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस