देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: उत्तराखंड की बहुप्रतीक्षित ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। 125.20 किलोमीटर लंबी इस रेल लाइन के शुरूआती छह किमी के निर्माण कार्य संबंधी सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर कार्य अवार्ड कर दिया गया है। इस रेल मार्ग में यात्री ट्रेन 100 किमी प्रति घंटे और मालगाड़ी 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से सफर करेगी।

सचिवालय में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन निर्माण की प्रगति को लेकर बैठक की। बैठक में बताया कि इस रेल लाइन के निर्माण में 16216 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इस रेलवे लाइन का 85 प्रतिशत हिस्सा सुरंग से होकर गुजरेगा। यानी 125 किमी में से 105 किमी की 17 सुरंगे बनाई जाएंगी। इसमें 98.54 किमी एस्केप टनल होंगी। इसमें 16 पुलों का भी निर्माण होगा। रेलवे लाइन के निर्माण में 791 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया जा रहा है। इसमें 564 हेक्टेयर वन भूमि, 60 हेक्टेयर सरकारी भूमि व 167 हेक्टेयर निजी भूमि शामिल है। निजी भूमि को अधिग्रहण करने की कार्यवाही अंतिम चरण मे है। 

इसके अलावा चार धाम रेल कनेक्टिविटी की 327 किमी रेल लाइन का भी फाइनल लोकेशन सर्वे हो गया है। इसका अब तकनीकी परीक्षण चल रहा है। बताया गया कि वीरभद्र रेलवे स्टेशन से छह किमी का काम शुरू कर दिया गया है। इस रेल लाइन के बनने से मात्र डेढ़ घंटे में ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक पहुंचा जा सकेगा। इससे तीर्थ यात्रियों के साथ ही स्थानीय लोगों को काफी सुविधा मिलेगी। 

यह भी पढ़ें:  सिस्टम की नाकामी से उत्तराखंड झेल रहा पलायन का दंश

यह भी पढ़ें: रैबार में मिले सुझाव होंगे विज़न डाक्यूमेंट का अहम हिस्सा 

यह भी पढ़ें: 'रैबार' के अमृत को आत्मसात करने की चुनौती 

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप