देहरादून, जेएनएन। केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार की उत्तराखंड विरोधी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस 21 जनवरी से पाचों लोकसभा सीटों में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में परिवर्तन यात्रा शुरू करेगी। पांच चरणों में निकलने वाली इस यात्रा की शुरुआत महासू देवता में पूजा-अर्चना के साथ की जाएगी। 

प्रदेश काग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कांग्रेस भवन में यात्रा के उद्देश्यों व कार्यक्रम की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव से पहले जब नरेंद्र मोदी उत्तराखंड आए थे तो उन्होंने राज्य में 2013 में आई भारी दैवीय आपदा से प्रभावित क्षेत्रों के पुनर्निर्माण के लिए यूपीए सरकार द्वारा दिए गए साढे़ सात हजार करोड़ के पैकेज को नाकाफी बताया था। वादा किया था कि केंद्र में भाजपा सरकार आने पर राज्य को ज्यादा आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके बाद राज्य की जनता ने पांचों लोकसभा सीटें भाजपा की झोली में डाल दी थीं, लेकिन मोदी की सरकार ने पिछले पाच सालों में एक नया पैसा राज्य के आपदा प्रभावित क्षेत्रों के पुनर्निर्माण के लिए नहीं दिया है। 

इसके इतर राज्य योजना आयोग से मिलने वाली तमाम सहायता नीति आयोग बनने के बाद बंद हो गई है। कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद राज्य की राजस्व प्राप्तिया 39 प्रतिशत घट गई और राज्य में चल रही अनेक वित्तपोषित योजनाएं ठप पड़ गईं। राष्ट्रीय राजमागरें का कार्य भी ठप पड़ा है। कर्णप्रयाग तक रेल अभी सपना ही लग रही हैं। 

उन्होंने कहा कि राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड के लोगों से वादा किया कि डबल इंजन सरकार बनेगी तो किसानों का कर्ज माफ होगा। राज्य का चहुंमुखी विकास होगा और बेरोजगारी के साथ ही पलायन रुकेगा। 

जनता ने फिर उन पर भरोसा किया और उत्तराखंड में भाजपा को जीत दिला दी। पिछले दो वर्षों में राज्य की त्रिवेंद्र सरकार ने प्रदेशवासियों को निराश किया। कहा कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाएं जर्जर हैं व सड़कों और अस्पताल के फ र्श व शौचालयों पर प्रसव हो रहे हैं। कहा कि राज्य सरकार ने विकास का पहिया पटरी से पूरी तरह उतार दिया है। हर छोटे-बडे़ काम के लिए उच्च न्यायालय राज्य सरकार को निर्देश दे रहा है। 

अब कांग्रेस प्रदेशभर में परिवर्तन यात्रा निकालने जा रही है, जिसकी शुरुआत 21 जनवरी को चकराता के महासू देवता मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ शुरू होगी। पहले चरण में टिहरी, उत्तरकाशी होते हुए 25 तारीख को मुनिकीरेती में इसका समापन किया जाएगा। दूसरे चरण में पौड़ी, रुद्रप्रयाग, चमोली इसके साथ दो चरणों में कुमांऊ और पांचवें चरण में गढ़वाल व कुमांऊ के तराई क्षेत्रों में परिवर्तन यात्रा निकालकर दून में इसका भव्य समापन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: अमित शाह की क्लास के लिए उत्तराखंड भाजपा तैयार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: सवर्णों के लिए आर्थिक आधार पर लागू हुआ 10 फीसद आरक्षण

यह भी पढ़ें: अमर सिंह बोले, भाजपा पर नहीं पड़ेगा गठबंधन का असर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप