Move to Jagran APP

उत्तराखंड में भारी बारिश के रेड अलर्ट के बीच एक्शन में CM धामी, आपदा प्रभावितों के लिए जल्द आएगी योजना

Uttarakhand Rain उत्तराखंड में भारी बारिश से तबाही के बीच अब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आपदा से हुए निकसान का जायजा लिया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अतिवृष्टि से बड़ी संख्या में लोग प्रभावित हुए हैं। कइयों ने अपने स्वजन को खोया है। उन्होंने कहा कि आपदा में बेघर जनों के पुनर्वास व रोजगार के लिए प्रशिक्षण के लिए जल्द ही एक योजना लाई जा रही है

By Jagran NewsEdited By: Swati SinghWed, 23 Aug 2023 07:42 AM (IST)
उत्तराखंड में भारी बारिश के रेड अलर्ट के बीच एक्शन में CM धामी

देहरादून, राज्य ब्यूरो। दिल्ली प्रवास से लौटते ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मोर्चे पर डट गए। मंगलवार सुबह वह सीधे सचिवालय स्थित राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र पहुंचे और प्रदेशभर में अतिवृष्टि से हुई क्षति की जानकारी ली। साथ ही टिहरी और पौड़ी के जिलाधिकारियों से फोन पर स्थिति का ब्यौरा लिया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अतिवृष्टि से बड़ी संख्या में लोग प्रभावित हुए हैं। कइयों ने अपने स्वजन को खोया है। कई लोग बेघर हुए हैं। कुछ बच्चों ने अपने माता-पिता को खो दिया है। उन्होंने कहा कि आपदा में बेघर जनों के पुनर्वास व रोजगार के लिए प्रशिक्षण और अनाथ बच्चों की शिक्षा के लिए जल्द ही एक योजना लाई जा रही है।

क्षति और बचाव के कदमों का मांगा ब्योरा

मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों से जिलेवार हुई क्षति और बचाव एवं राहत के दृष्टिगत उठाए गए कदमों का पूरा ब्योरा लिया। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग ने अगले दो दिन भी अधिकांश जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना जताई है। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रशासन को अलर्ट मोड पर रखने के साथ ही सहयोगी संस्थाओं से निरंतर समन्वय रखा जाए। जिलों में खाद्यान्न से संबंधित सभी वस्तुओं के साथ ही दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता रखी जाए।

सीएम धामी ने दिए समन्वय बनाए रखने के निर्देश

सीएम धामी ने शासन के उच्चाधिकारियों के साथ ही सचिव आपदा प्रबंधन को भी जिलाधिकारियों से निरंतर समन्वय बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि के कारण राज्य में आपदा की स्थिति है। सड़कों, पुलों, भवनों, फसल, विद्युत व पेयजल लाइनों को क्षति पहुंची है। अभी तक राज्य में एक हजार करोड़ से अधिक का नुकसान आंका गया है। केंद्र सरकार की टीम ने भी नुकसान का प्रारंभिक सर्वे किया है। क्षति का आकलन करने को राज्य सरकार से भी केंद्र को पत्र भेजा जा रहा है।

जारी है भारी बारिश का रेड अलर्ट

उत्तराखंड के ज्यादातर क्षेत्रों में रुक-रुककर भारी वर्षा का दौर जारी है। मौसम विभाग ने अगले दो दिन देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, टिहरी, नैनीताल, बागेश्वर, चंपावत और ऊधमसिंह नगर में कहीं-कहीं बहुत भारी से अत्यंत भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं अन्य जिलों में गरज-चमक के साथ बौछार पड़ने के आसार हैं। मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए देहरादून, पौड़ी, टिहरी, हरिद्वार, नैनीताल, बागेश्वर और चंपावत में स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है।

भारी बारिश से मची है तबाही

बीते तीन दिन से प्रदेश के कुछ जिलों में भारी वर्षा से जनजीवन बेहाल है। खासकर देहरादून, पौड़ी और टिहरी जिले में आसमान से आफत बरस रही है। कुछ क्षेत्रों में अतिवृष्टि के कारण भूस्खलन, बाढ़ और जलभराव से खासा नुकसान हुआ है। उधर, नैनीताल और बागेश्वर में भी भारी वर्षा ने मुश्किलें बढ़ा दी हैं। अब अगले दो दिन प्रदेश के आठ जिलों पर और भारी पड़ सकते हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, अगले दो दिन प्रदेश के आठ जिलों में बहुत भारी से अत्यंत भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। जिसमें देहरादून, पौड़ी और टिहरी अधिक संवेदनशील हैं।