देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्याज, रसोई गैस, बिजली के बढ़ते दाम यानी महंगाई और रोडवेज बसों की खरीद में गड़बड़ी के मामले ने कांग्रेस को भाजपा सरकार पर हमले के लिए हथियार मुहैया करा दिए हैं। कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक में विधानसभा सत्र के दौरान सरकार के खिलाफ मुद्दों को धार देने की रणनीति तैयार की गई।

विधानसभा में मंगलवार को नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की अध्यक्षता में कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक में तय किया गया कि महंगाई को मुख्य हथियार बनाकर सरकार पर प्रहार किया जाएगा। विधायकों ने कहा कि सरकार महंगाई रोकने में नाकाम रही है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा कि प्याज, सब्जियों के साथ दालों के दाम तो बढ़ ही रहे हैं, बिजली, पानी के दाम भी जानबूझकर बढ़ाए जा रहे हैं। इससे लोगों का जीना मुहाल हो गया है। रोडवेज बसों की खरीद में गड़बड़ी और भ्रष्टाचार का आरोप सरकार पर लगाया गया। उपनेता प्रतिपक्ष करन महरा ने कहा कि सत्र में रोडवेज बसों के मुद्दे पर सरकार से जवाब मांगा जाएगा।

यह भी पढ़ें: संवैधानिक आरक्षण मंच का बेमियादी धरना जारी, मांगे पूरी न होने तक जारी रहेगा आंदोलन

इसके साथ ही चार धामों समेत मुख्य मंदिरों के प्रबंधन को श्राइन बोर्ड के गठन, गन्ना व धान उत्पादक किसानों के बकाया, टीएचडीसी को एनटीपीसी को देने, आयुष छात्रों की फीस वृद्धि, बढ़ती आपराधिक वारदातों और विधायकों के क्षेत्रवार मुद्दों को लेकर पार्टी सरकार और सत्तारूढ़ दल पर हमलावर रहने वाली है। बैठक में विधायक व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह स्वास्थ्य खराब होने की वजह से शिरकत नहीं कर सके। इसके अलावा विधायकों में काजी निजामुद्दीन, मनोज रावत, फुरकान अहमद भी शामिल नहीं हो सके। गैर मौजूद विधायक बुधवार को सत्र के दौरान दिखाई देंगे।

यह भी पढ़ें: चारधाम श्राइन बोर्ड गठन के खिलाफ तीर्थ पुरोहितों का सीएम आवास कूच, पुलिस ने रोका

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस