देहरादून, जेएनएन। पूर्व सीएम हरीश रावत समेत 300 कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा हरिद्वार में मुकदमा दर्ज किया गया है। बीते शनिवार को श्रमिकों के शोषण और बढ़ती बेरोजगारी के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सिडकुल पदयात्रा कार्यक्रम का आयोजन किया था। जिसमें बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्त्‍ता शामिल हुए थे।

इस मामले में सिडकुल थानाध्यक्ष लखपत सिंह बुटोला की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, पिरान कलियर से कांग्रेस विधायक फुरकान अहमद, भगवानपुर विधायक ममता राकेश, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष राव आफाक अली, पूर्व दर्जा धारी किरणपाल वाल्मीकि व श्रमिक नेता राजवीर सिंह चौहान समेत करीब 300 कार्यकर्त्‍ताओं के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम और लॉकडाउन उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, युवा कांग्रेस नेता सुमित चौधरी के साथ उनके दो निजी सुरक्षाकर्मी इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। पुलिस का आरोप है कि निजी सुरक्षाकर्मियों ने असलाह प्रदर्शन किया है। इस मामले में सुमित चौधरी व उनके दो सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ भी शस्त्र अधिनियम में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: पूर्व जिला उपाध्यक्ष रहे सौरभ भट्ट समेत दो भाजपाइयों ने कांग्रेस का हाथ थामा

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो हुआ वायरल 

इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया। वीडियो में रुड़की क्षेत्र के कांग्रेसी नेता के साथ दो निजी सुरक्षा कर्मी सामने की ओर खुली पिस्टल लगाए नजर आ रहे हैं। यह सभी कई दफे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नजदीक नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि जिस कांग्रेसी नेता के साथ यह निजी सुरक्षाकर्मी आये थे, वह विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं और उन्होंने उस दौरान हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कर खूब सुर्खियां बटोरी थीं। इस मामले में सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो का संज्ञान लेकर हरिद्वार एसएसपी सेंथिल अबुदई ने मामले की जांच के आदेश दिए थे। उन्होंने सार्वजनिक स्थानों पर इस तरह से हथियारों का प्रदर्शन को गलत बताया। 

यह भी पढ़ें: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले, सरकारों की उपलब्धियां जन-जन तक पहुंचाएं कार्यकर्ता

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस