विकासनगर, जेएनएन। पीजीआई चंडीगढ़ से मरीज का उपचार कराकर लौट रहे पौड़ी जिले की कलालघाटी क्षेत्र के एक परिवार की कार शक्तिनहर में समा गई। सामने से आते ट्रक को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित हुई। हादसे में दंपती समेत तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि एक लापता है। उसकी तलाश की जा रही है।

गुरुवार रात करीब डेढ़ बजे हुए इस हादसे में चालक समेत दो लोगों ने कूदकर अपनी जान बचाई। जल पुलिस ने रेस्क्यू कर स्थानीय लोगों की मदद से कार को नहर से बाहर निकाला। कार से तीन शव बरामद हुए, जबकि कार सवार एक अन्य व्यक्ति नहर में डूब गया। उसकी खोजबीन जारी है। 

कलालघाटी क्षेत्र के उदयरामपुर गांव निवासी मतीदास पुत्र रेमीदास पेट के टयूमर का इलाज कराने के लिए उनके परिजन 9 मार्च को पीजीआइ चंडीगढ़ लेकर गए थे। गुरुवार को वे कार से वापस लौट रहे थे। इसमें चालक समेत कुल छह लोग सवार थे। मटक माजरी के निकट सामने से आते ट्रक को बचाने के चक्कर में चालक गाड़ी पर नियंत्रण खो बैठा। फलस्वरूप कार पलटा खाकर शक्तिनहर में समा गई। चालक गणेश पुत्र चंद्रमोहन और संजय कुमार पुत्र मोहनलाल ने छलांग लगाकर जान बचाई। दोनों ही नहर में गिरे, लेकिन उसी वक्त तैरकर बाहर निकल आए। 

तीन लोगों के शव कार के भीतर मिले। इनकी शिनाख्त मतीदास पुत्र रेमीदास, दर्शनी देवी पत्नी मतीदास निवासी ग्राम उदयरामपुर और विमलेश कुमार पुत्र वेदप्रकाश निवासी ग्राम मढाली पौड़ी के रूप में हुई। जबकि हरीश चंद नाम के युवक का कुछ पता नहीं चल पा रहा है। कोतवाल महेश जोशी के अनुसार नहर में नहर में डूबे कार सवार युवक की तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें: रोडवेज बस ने स्कूटी को मारी टक्कर, महिला की मौके पर ही मौत

यह भी पढ़ें: पहाड़ी से लुढ़का मैक्स वाहन, चार की मौत; सात घायल

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली से बैजरो जा रही बोलेरो खाई में गिरी, तीन लोगों की मौत

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप