राज्य ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कमर कस चुकी भाजपा सांगठनिक गतिविधियों के लिहाज से पहले ही बढ़त ले चुकी है। अब चुनाव की घोषणा से पहले ही स्टार प्रचारकों को पार्टी मैदान में उतारने जा रही है। इस कड़ी में अगले माह से प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा समेत पार्टी के अन्य केंद्रीय नेताओं के कार्यक्रम तय किए जा रहे हैं। पार्टी की इस पहल को विपक्ष पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कड़ी के तौर पर भी देखा जा रहा है।

प्रदेश में सत्तासीन भाजपा के लिए अगले साल की शुरुआत में होने वाला विधानसभा बड़ी चुनौती से कम नहीं है। पार्टी के सामने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव जैसा प्रदर्शन दोहराते हुए फिर से सत्ता में आकर मिथक तोड़ने की चुनौती है तो बदली परिस्थितियों में सरकार और प्रदेश संगठन के नए नेतृत्व को खुद को साबित करने की। इस सबको देखते हुए भाजपा अब पूरी तरह चुनावी मोड में आ चुकी है।

पार्टी का राष्ट्रीय नेतृत्व भी राज्य में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को बेहद गंभीरता से ले रहा है। हालिया दिनों में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष, प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी, राष्ट्रीय महामंत्री एवं उत्तराखंड प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम समेत अन्य नेताओं ने उत्तराखंड आकर पार्टी के चुनाव अभियान की समीक्षा करने के साथ ही आवश्यक निर्देश दिए।

अब जबकि चुनाव के लिए छह माह का ही वक्त रह गया तो भाजपा पूरी तरह से मैदान में उतर चुकी है। प्रांत से लेकर जिला स्तर तक के पार्टी पदाधिकारियों को बूथ इकाइयों को सक्रिय करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मंत्री, विधायक लगातार दौरे कर रहे हैं। साथ ही प्रदेशभर में जन आशीर्वाद रैलियों की श्रृंखला शुरू की गई है, जिनके माध्यम से विधानसभा क्षेत्रों के लिए मुख्यमंत्री घोषणाएं कर रहे हैं। अब तक ऋषिकेश, मसूरी, भगवानपुर, श्रीनगर, अल्मोड़ा व नैनीताल में जन आशीर्वाद रैलियां हो चुकी हैं। अभी 32 रैलियां और होनी हैं।

हालांकि, अभी विधानसभा चुनाव की घोषणा में वक्त है, लेकिन चुनावी माहौल बनाने के लिए केंद्रीय नेताओं को भी पार्टी मैदान में उतारने जा रही है। भाजपा सूत्रों के अनुसार अगले माह से शुरू होने वाले केंद्रीय नेताओं के दौरों के लिए रूपरेखा को अंतिम रूप दिया जा रहा है। साफ है कि अगले माह से उत्तराखंड की सियासी फिजां में चुनावी गर्माहट तेजी से घुलने लगेगी।

कुलदीप कुमार (महामंत्री, प्रदेश भाजपा) का कहना है कि यह चुनावी वर्ष है। इसी के दृष्टिगत पार्टी के केंद्रीय नेताओं के उत्तराखंड दौरे तय होने हैं। समय की परिस्थितियों के अनुरूप केंद्रीय नेताओं के अलग-अलग कार्यक्रम निर्धारित किए जाएंगे।

राष्ट्रीय महामंत्री संगठन रहेंगे मौजूद

भाजपा महिला मोर्चा की 26 व 27 सितंबर को देहरादून में होने वाली राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष भी मौजूद रहेंगे। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय कार्यसमिति में उत्तराखंड समेत पांच राज्यों के आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति पर मंथन होगा।

Edited By: Sunil Negi