ऋषिकेश, जेएनएन। लोकसभा चुनाव में भाजपा की उत्तराखंड सहित समूचे देश में शानदार जीत के बाद ऋषिकेश में हो रही भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में रविवार को धन्यवाद प्रस्ताव के साथ सदस्यता के एजेंडे पर विशेष चर्चा होगी। प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि संगठन में अध्यक्ष आएंगे और जाएंगे, मगर संगठन शिथिल नहीं पड़ना चाहिए। इस वर्ष दिसंबर में नई प्रदेश कार्यकारिणी वजूद में आ जाएगी।

परमार्थ निकेतन स्वर्गाश्रम में भाजपा की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के पहले दिन औपचारिक उद्घाटन प्रदेश अध्यक्ष व सांसद अजय भट्ट, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने किया। बैठक में अध्यक्षीय संबोधन में प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित संगठन है। यहां अध्यक्ष आएंगे और जाएंगे, हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि हम अध्यक्ष नहीं रहेंगे तो संगठन की स्थिति प्रभावित होगी। संगठन शिथिल नहीं होना चाहिए। सदस्यता अभियान निर्धारित अवधि में पूर्ण होगा और दिसंबर में प्रदेश कार्यकारिणी को नया अध्यक्ष मिल जाएगा।

बैठक में रविवार को कार्यसमिति में लाए जाने वाले राजनैतिक प्रस्ताव पर कुछ संशोधन के बाद उसे अंतिम रूप दिया गया। पार्टी सूत्रों के मुताबिक कार्यसमिति में लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड की पांचों सीटों पर भाजपा की शानदार जीत पर धन्यवाद प्रस्ताव पारित करने के पश्चात सदस्यता के एजेंडे पर व्यापक चर्चा होगी। बैठक से पूर्व परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती महाराज व जीवा की अंतरराष्ट्रीय महासचिव साध्वी भगवती सरस्वती ने मुख्यमंत्री, प्रदेश अध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी का स्वागत किया। इन सभी ने परमार्थ घाट पर होने वाली सांध्यकालीन गंगा आरती में भी शिरकत की।

बैठक में विधायक खजान दास, रितु भूषण खंडूड़ी, महेंद्र प्रसाद भट्ट, पुष्कर सिंह धामी, विनोद कंडारी, महापौर देहरादून सुनील उनियाल गामा, ऋषिकेश महापौर अनीता ममगाईं, प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ. देवेंद्र भसीन आदि शामिल हुए। बैठक का संचालन प्रदेश महामंत्री संगठन नरेश बंसल ने किया। रविवार को कार्यसमिति में राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिव प्रकाश, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक सहित प्रदेश के सभी सांसद मुख्य रूप से शामिल होंगे।

स्व. प्रकाश पंत को समर्पित किया सभागार

ऋषिकेश, जेएनएन। भाजपा कार्यसमिति की बैठक जिस सभागार में होगी उसे दिवंगत नेता स्व. प्रकाश पंत को समर्पित किया गया है। परमार्थ निकेतन में योग हॉल परिसर को भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के लिए चुना गया है। इस परिसर को भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर परिसर नामकरण किया गया है। रविवार को ही श्याम प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि भी है और कार्यसमिति में उन्हें श्रद्धांजलि दी जाएगी। वहीं जिस परिसर में कार्यक्रम स्थल यानी योग हॉल है, उसे वीर चंद्र सिंह गढ़वाली परिसर नाम दिया गया है। जबकि कार्यसमिति की बैठक जिस सभागार में होनी है उसे स्व. प्रकाश पंत को समर्पित किया गया है। आयोजन स्थल तक पहुंचने वाले मार्ग पर भाजपा के झंडे कतारबद्ध लगाए गए हैं। इसके साथ ही स्व. अटल बिहारी वाजपेयी, पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष व गृहमंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट सहित राष्ट्रीय व प्रदेश के पदाधिकारियों के चित्र भी श्रंखला में लगाए गए हैं।

मुख्य फोकस पंचायत चुनाव की तैयारी पर रहने की संभावना

उत्तराखंड में वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से अब तक के चुनावों में विजय रथ पर सवार भाजपा के लिए अगली चुनौती पंचायत चुनाव की है। लोस चुनाव में ऐतिहासिक प्रदर्शन के बाद स्वर्गाश्रम में हो रही भाजपा की पहली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सदस्यता अभियान के बाद मुख्य फोकस पंचायत चुनाव की तैयारी पर रहने की संभावना है। माना जा रहा है कि छोटी सरकार के चुनाव के लिए रणनीति पर प्रदेश कार्यसमिति मुहर लगा सकती है।

वर्ष 2014 में भाजपा ने राज्य में लोकसभा की पांचों सीटें जीतकर अपने विजय अभियान की शुरूआत की। इसके बाद 2017 के विधानसभा चुनाव में भी पार्टी ने प्रचंड बहुमत हासिल किया। उसने विधानसभा की 70 में 57 सीटों पर कब्जा जमाकर विपक्ष को चारों खाने चित कर दिया था। यही नहीं, राज्य में हुए नगर निकाय चुनावों में पार्टी ने जबर्दस्त सफलता हासिल की। इसके अलावा सहकारिता चुनाव में भाजपा ने एकतरफ जीत हासिल की।

हाल में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने लगातार दूसरी बार पांचों सीटें जीतकर इतिहास रचा। अब पार्टी के सामने राज्य में होने वाले पंचायत चुनाव में विजय पताका फहराने की चुनौती है। इस लिहाज से लोस चुनाव के बाद हो रही भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। असल में हरिद्वार जिले को छोड़ राज्य के शेष 12 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायतों (ग्राम, क्षेत्र व जिला) का कार्यकाल जुलाई में खत्म हो रहा है। पंचायत चुनाव सितंबर में प्रस्तावित हैं।

ऐसे में भाजपा का पूरा ध्यान अब इन चुनावों पर टिक गया है। माना जा रहा कि प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में पंचायत चुनाव के सिलसिले में मंथन कर रणनीति पर मुहर लगाई जाएगी। फिर इसके आधार पर सभी कार्यकर्ता पंचायत चुनावों में पार्टी का परचम फहराने के इरादे से उतरेंगे। प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के अनुसार कार्यसमिति में राजनीतिक प्रस्ताव तो पारित होंगे ही, सदस्यता अभियान, नगर निकाय के अलावा पंचायत चुनाव समेत अन्य मसलों पर विमर्श की संभावना है।

भाजपा के प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल ने बताया कि कार्यसमिति की बैठक में सदस्यता अभियान पर मुख्य रूप से चर्चा की जाएगी। उन्होंने बताया कि विगत वर्ष भाजपा ने प्रदेश भर में 16 लाख सदस्य बनाए थे, जिनमें से 11 लाख सदस्यों का सत्यापन हुआ है। उन्होंने बताया कि इस बार प्रत्येक बूथ पर 25 नए सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। संगठन में जिला स्तर पर सदस्यता प्रमुख बना दिये गए हैं। अब मंडल स्तर पर सदस्यता प्रमुख बनाए जाएंगे। इस सदस्यता अभियान को संगठन पर्व के रूप में मनाया जाएगा। प्रदेश महामंत्री ने बताया कि आगामी पंचायत चुनाव के लिए भी कार्यसमिति की बैठक में रूपरेखा तैयार की जाएगी। पंचायत चुनाव अभी करीब तीन माह बाद होने हैं और संगठन के पास इसके लिए पर्याप्त समय है। निकाय के उपचुनाव के लिए भी हमने प्रत्याशी घोषित कर दिये हैं। संगठन सभी जगह मजबूत स्थिति में है।

यह भी पढ़ें: पत्रकारों से दुर्व्यवहार करने पर भाजपा ने विधायक प्रणव चैंपियन को किया निलंबित Dehradun News

यह भी पढ़ें: मौजूदा परिस्थियों में जनसंख्या नियंत्रण कानून की आवश्यकता: साध्वी प्रज्ञा

यह भी पढ़ें: 24 जून से शुरू होगा उत्तराखंड विधानसभा का सत्र, विधायकों ने लगाए 721 सवाल

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप