देहरादून, राज्य ब्यूरो। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बगावत के दंश से जूझ रही भाजपा ने इस कड़ी में रुद्रप्रयाग जिले के दो कार्यकर्ताओं को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। दोनों पर जिला पंचायत सदस्य पदों पर पार्टी के समर्थित उम्मीदवारों के खिलाफ चुनाव लड़ने और पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने का आरोप है। 

पंचायत चुनाव में भाजपा की ओर से जिला पंचायत सदस्य पदों पर पार्टी समर्थित उम्मीदवारों का एलान किए जाने के बाद से लगभग सभी जिलों में तमाम कार्यकर्ता नाराज हो गए। इनमें वे कार्यकर्ता शामिल हैं, जो लंबे समय से पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटे थे, मगर पार्टी ने उन्हें समर्थित उम्मीदवार नहीं बनाया। 

हालांकि, पार्टी ने डैमेज कंट्रोल के तहत इन्हें मनाने की कोशिशें कीं, मगर ये परवान नहीं चढ़ पाई। इसे देखते हुए पार्टी के प्रांतीय नेतृत्व ने सख्त रुख अपनाते हुए हाल में ही 90 कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। इस क्रम में अब रुद्रप्रयाग जिले के दो कार्यकर्ताओं को पार्टी से निष्कासित किया गया है। 

यह भी पढ़ें: ऑडियो प्रकरण में भाजपा विधायक को नोटिस, जानिए क्या है पूरा मामला

भाजपा के प्रदेश महामंत्री एवं प्रांतीय कार्यालय प्रभारी राजेंद्र भंडारी के अनुसार रुद्रप्रयाग के जिन कार्यकर्ताओं को तत्काल प्रभाव से निष्कासित किया गया है, उनमें ऊखीमठ ग्रामीण मंडल के उपाध्यक्ष सुबोध बगवाड़ी और सदस्य आनंद प्रकाश नौटियाल शामिल हैं। भंडारी ने कहा कि भाजपा में अनुशासन सर्वोपरि है और इसे तोड़ने की इजाजत किसी को नहीं है।

यह भी पढ़ें: विधायक उमेश शर्मा काऊ के ऑडियो प्रकरण पर भाजपा ने बैठाई जांच

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप